पीएम मोदी ने 9 हजार 800 करोड़ की 15 हवाईअड्डा परियोजनाओं का उद्घाटन किया

[ad_1]

नई दिल्ली, 10 मार्च (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को पूरे भारत में महत्वाकांक्षी हवाईअड्डा परियोजनाओं की एक सीरीज का उद्घाटन और शिलान्यास किया, जिनकी कुल लागत 9 हजार 800 करोड़ रुपये से ज्यादा है।

पीएम मोदी ने एक कार्यक्रम में पुणे, कोल्हापुर, ग्वालियर, जबलपुर, दिल्ली, लखनऊ, अलीगढ़, आजमगढ़, चित्रकूट, मुरादाबाद, श्रावस्ती और आदमपुर हवाईअड्डों समेत प्रमुख स्थानों पर 12 नए टर्मिनल भवनों का उद्घाटन किया।

इसके अलावा पीएम मोदी ने कडपा, हुबली और बेलगावी हवाईअड्डों पर तीन नए टर्मिनल भवनों की आधारशिला रखी।

पीएम मोदी ने कहा कि ग्वालियर टर्मिनल केवल 16 महीनों में पूरा हो गया, जो कुशल परियोजना निष्पादन के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

चुनावी रणनीति के आरोपों का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा, “यह पहल देश के आम नागरिकों के लिए हवाई यात्रा को आसान और सुलभ बनाएगी।”

पीएम मोदी ने कहा कि घोषित परियोजनाओं को समय पर पूरा करने में सरकार का रिकॉर्ड इन परियोजनाओं के चुनावी हथकंडे होने के आरोप को खारिज करता है।

पीएम मोदी ने विकसित भारत बनाने के प्रति अपने समर्पण दोहराते हुए कहा, “लोग देख रहे हैं कि मोदी अलग मिट्टी से बने हैं। मैं विकसित भारत बनाने के लिए लगातार काम कर रहा हूं।”

पीएम मोदी ने कहा कि हवाईअड्डा परियोजनाओं के साथ-साथ राजमार्ग, रेलवे, शिक्षा, पानी और पर्यावरण में भी निवेश किया जा रहा है।

इन परियोजनाओं के उद्घाटन से नागरिक उड्डयन क्षेत्र को काफी बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। 12 नए टर्मिनल भवनों में सामूहिक रूप से सालाना 620 लाख यात्रियों को सेवा देने की क्षमता होगी, जबकि निर्माणाधीन तीन टर्मिनल पूरा होने पर प्रतिवर्ष अतिरिक्त 95 लाख यात्रियों की क्षमता जोड़ देंगे।

इन टर्मिनल भवनों में अत्याधुनिक यात्री सुविधाएं हैं और ये डबल इंसुलेटेड रूफिंग सिस्टम, ऊर्जा बचत के लिए कैनोपी का प्रावधान, एलईडी लाइटिंग आदि जैसी विभिन्न सुविधाओं से भी सुसज्जित हैं। इन हवाईअड्डों के डिजाइन, उस राज्य और शहर की विरासत संरचनाओं से प्रभावित हैं स्थानीय संस्कृति और क्षेत्र की विरासत को दर्शाते हैं।

–आईएएनएस

एफजेड/एसजीके

[ad_2]

E-Magazine