महाराष्ट्र : पूर्वी विदर्भ की पांच लोकसभा सीटों पर होगा त्रिकोणीय मुकाबला

[ad_1]

मुंबई, 31 मार्च (आईएएनएस)। पूर्वी विदर्भ की पांच लोकसभा सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला होगा, जहां 19 अप्रैल को मतदान होना है।

राज्य निर्वाचन विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, 97 प्रतियोगी मैदान में हैं, लेकिन इन पांच निर्वाचन क्षेत्रों में कांग्रेस, भाजपा, शिवसेना और बसपा सहित मान्यता प्राप्त दलों के उम्मीदवारों के बीच मुकाबले की उम्मीद है।

रामटेक निर्वाचन क्षेत्र में मान्यता प्राप्त दलों के तीन उम्मीदवारों में राजू परवे (शिवसेना), श्यामकुमार बर्वे (कांग्रेस) और संदीप मेश्राम (बसपा) शामिल हैं, हालांकि गैर-मान्यता प्राप्त दलों से 13 और 12 निर्दलीय हैं।

रामटेक में कांग्रेस ने रश्मि बर्वे को उम्मीदवार बनाया था, लेकिन उनका जाति प्रमाणपत्र अवैध घोषित कर दिया गया था। अब उनके पति चुनावी मैदान में हैं।

नागपुर में भाजपा उम्मीदवार नितिन गडकरी, विकास ठाकरे (कांग्रेस) और योगेश लांजेवार (बसपा) मान्यता प्राप्त दलों से हैं, इसके अलावा 13 गैर-मान्यता प्राप्त और 10 निर्दलीय उम्मीदवार हैं।

भंडारा-गोंदिया निर्वाचन क्षेत्र में 18 उम्मीदवारों में सुनील मेंढे (भाजपा), प्रशांत पडोले (कांग्रेस) और संजय कुंभलकर (बसपा) मान्यता प्राप्त दलों से हैं, जबकि 4 गैर-मान्यता प्राप्त और 11 निर्दलीय हैं।

इसके अलावा, अशोक नेते (भाजपा), करसन नामदेव (कांग्रेस) और योगेश होन्नाडे (बसपा) के बीच त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिलेगा, हालांकि गैर-मान्यता प्राप्त दलों के 4 अन्य उम्मीदवार और 3 निर्दलीय उम्मीदवार हैं।

चंद्रपुर में 15 उम्मीदवारों में से प्रतिभा धानोरकर (कांग्रेस), सुधीर मुनगंटीवार (भाजपा और राजेंद्र रामटेके (बसपा) मान्यता प्राप्त दलों से हैं, जबकि 9 गैर मान्यता प्राप्त और 3 निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में हैं।

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एस. चोकलिंगम के अनुसार, इन पांच निर्वाचन क्षेत्रों में 95,54,667 मतदाता 10,652 मतदान केंद्रों के माध्यम से अपना वोट डालेंगे।

जहां तक राज्य में 8 लोकसभा क्षेत्रों में दूसरे चरण की शुरुआत की बात है, चोकलिंगम ने कहा कि नामांकन दाखिल करना 28 मार्च को शुरू हुआ और नाम वापस लेने की तारीख 8 अप्रैल है। बुलढाणा, अकोला सहित इन 8 सीटों पर मतदान होगा। अमरावती, वर्धा, यवतमाल-वाशिम, हिंगोली, नांदेड़ और परभणी में 26 अप्रैल को मतदान होना है।

उन्होंने कहा कि मतदान केंद्रों की संख्या 2019 में 96,640 और 2014 में 90,386 के मुकाबले 2024 में बढ़कर 98,114 हो गई है। 1 से 28 मार्च तक विभिन्न केंद्रीय और राज्य एजेंसियों ने 342.29 करोड़ रुपये की अवैध नकदी, शराब, ड्रग्स और कीमती धातुएं जब्त की हैं।

उन्होंने कहा कि अवैध नकदी, शराब और नशीली दवाओं की जब्ती के लिए 48 लोकसभा सीटों पर 1,656 उड़न दस्ता टीमें और 2096 स्थैतिक निगरानी टीमें बनाई गई हैं।

–आईएएनएस

एसजीके/

[ad_2]

E-Magazine