हाथरस हादसे में रेस्क्यू ऑपरेशन तेज, एनडीआरएफ व मेडिकल टीम घटनास्थल के लिए रवाना

हाथरस, 2 जुलाई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के हाथरस में भोले बाबा के सत्संग में हुई भगदड़ से 100 से भी ज्यादा लोगों की मौत हो गई। पीएम मोदी से लेकर सीएम योगी तक ने मामले को संज्ञान में लेकर पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना जताई है। इसके अलावा, हादसे की जांच के लिए समिति गठित कर दी गई है। कल सीएम योगी घटनास्थल पर भी जाएंगे। वहीं, मौके पर लोगों की मदद के लिए एनडीआरएफ और मेडिकल टीम घटनास्थल के लिए रवाना हो चुकी है। इसकी जानकारी अमित शाह ने अपने सोशल मीडिया एक्स हैंडल पर दी है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हाथरस हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए अपने सोशल मीडिया एक्स हैंडल पर कहा, “हाथरस में हुई दुर्घटना के विषय में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी जी से बात कर घटना की जानकारी ली और केंद्र सरकार से हर संभव मदद का आश्वासन दिया। शीघ्र ही एनडीआरएफ की मेडिकल टीम भी हाथरस पहुंच रही है।“

हाथरस हादसे पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, “इतने लोगों की जान चली गई। यह सवाल पूछा जाना लाजिमी है कि आखिर सरकार क्या कर रही थी। सरकार की जानकारी में होने के बावजूद भी इतना बड़ा हादसा हो गया। सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि अगर किसी आयोजन में इतने लोग एकत्रित हो रहे हैं, तो आखिर उनकी सुरक्षा के लिए किया क्या किया गया? यह सबसे बड़ा सवाल है।“

आगरा से सांसद एसपी सिंह बघेल ने हाथरस के हादसे पर कहा कि भोले बाबा के सत्संग में ये हादसा हुआ। पुलिस प्रशासन को परमिशन की एनओसी देने से पहले विजिट करना चाहिए।

कांग्रेस प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने इस हादसे पर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, “यह प्रशासन की घोर लापरवाही है, जिसकी वजह से यह हादसा हुआ, इसमें सैकड़ों लोगों को जान गंवानी पड़ी। हजारों की संख्या में वहां लोगों की भीड़ थी, तो आखिर क्यों नहीं सुरक्षा के कोई इंतजाम किए गए।“

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी हाथरस हादसे पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा, “हाथरस में बड़ा हादसा हुआ। मैं सभी के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करता हूं। यह दुख का समय है। सरकार को लोगों की मदद करनी चाहिए। यह नाजुक घड़ी है।“

सपा नेता फकरुल हसन चांद की भी प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा, “समाजवादी पार्टी की संवेदना श्रद्धालुओं के साथ है। प्रशासन ने आखिर इतनी बड़ी लापरवाही कैसे की। वहां पूरी व्यवस्था होनी चाहिए थी।“

शिवसेना प्रवक्ता आनंद दुबे ने हाथरस हादसे पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश के हाथरस में सत्संग के दौरान भगदड़ में 100 लोगों से ज़्यादा लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है। हम अपनी संवेदना प्रकट करते हैं, यह स्थानीय प्रशासन की असफलता है। इतने बड़ा आयोजन हो रहा है, तो नियमों का पालन क्यों नहीं किया गया। यह राज्य सरकार की अनदेखी का मामला है और दुर्भाग्यपूर्ण है।“

सपा नेता अवधेश प्रसाद ने हाथरस हादसे पर कहा, “आखिर एजेंसियां वहां क्या काम कर रही थी, उनको इतनी बड़ी घटना के बारे में पता नहीं चला। घटना के बाद डीएम एसपी वहां लेट पहुंचे। रेस्क्यू में देरी हुई। कई लोगों को बचाया जा सकता था। राज्य सरकार दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करे।“

सपा नेता सनातन पांडे ने हाथरस हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए कहा, “हाथरस में जो घटना हुई है, वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। वहां लापरवाही हुई है। जिले के अफसरों को पता ही नहीं है कि उनके जिले में क्या हो रहा है।“

–आईएएनएस

एसएचके/सीबीटी

E-Magazine