बांसुरी स्वराज ने दिल्ली की जल मंत्री आतिशी से जल बोर्ड व जल समस्या को लेकर पूछे छह सवाल

नई दिल्ली, 21 जून (आईएएनएस)। सांसद बांसुरी स्वराज ने शुक्रवार को एक पत्रकार वार्ता में कहा कि दिल्ली की जल मंत्री आतिशी का सत्याग्रह एक छलावा है और अपनी निष्क्रियता को छुपाने का प्रयास है। आतिशी पूरी तरह असफल जल मंत्री हैं। इस वर्ष फरवरी से ही यह स्पष्ट था कि दिल्ली एक लंबी गर्मी झेलेगी पर आतिशी ने कोई तैयारी नहीं की।

स्वराज ने कहा कि जिस वक्त गर्मी की जरूरतों के लिए दिल्ली को तैयार करना था। उस वक्त वह मुख्य मंत्री अरविंद केजरीवाल की संभावित गिरफ्तारी और फिर गिरफ्तारी पर बयानबाजी करने में शामिल थीं।

सांसद बांसुरी स्वराज ने कहा कि आज मैं दिल्ली वालों की ओर से 6 सवाल जल मंत्री आतिशी से पूछ रही हूं और आशा करती हूं कि वह जनता के सवालों का जवाब देंगी ।

1. दिल्ली जल बोर्ड ने इस वर्ष मार्च में समर एक्शन प्लान क्यों नही बनाया और जो चर्चा भी की, उसमें मौसम विभाग की तपती गर्मी की जानकारी के बाद भी पूरी तैयारी क्यों नही की ?

2. आप लगातार हरियाणा से या फिर हिमाचल प्रदेश से अतिरिक्त जल मांगती हैं, जिनके पास अतिरिक्त जल नहीं है पर हरियाणा एवं हिमाचल प्रदेश के बीच पड़ने वाले पंजाब से जल क्यों नही मांगतीं, जबकि वहां आपकी अपनी पार्टी की सरकार है?

3. आज दिल्ली के तीन करोड़ लोग जल समस्या से जूझ रहे हैं और ना जाने वो कौन सा आंकड़ा है, जिनके आधार पर आप आज भी कहती हैं कि दिल्ली के 28 लाख लोग ही जल समस्या से त्रस्त हैं। आतिशी जी आखिर क्यों आप तीन करोड़ जल संकट प्रभावित लोगों की संख्या को 28 लाख बता कर उनके जख्मों पर नमक छिड़क रही हैं ?

4. आतिशी जी सारी दिल्ली जानती है कि दिल्ली में जल संकट का एक बड़ा कारण है। वजीराबाद बैराज संयंत्र और सोनिया विहार एवं ओखला जल संयंत्रों में पानी स्टोरेज क्षमता की कमी है, वजीराबाद में तो स्टोरेज जल तालाब में 95 फीसद तक गाद भरी है। मंत्री जी बताएं कि पिछले दस साल में वजीराबाद बैराज, सोनिया विहार जैसे जल संयंत्रों के स्टोरेज सिस्टम की सफाई एवं उसको बढ़ाने पर और रैनी वेल पर क्या काम किया ?

5. आपकी पार्टी के अनेक कार्यकर्ता आज दिल्ली में पानी के टैंकर चलवा रहे हैं और वह ही हैं, जो मुनक नहर से भी जल चुराते हैं। अवैध भूजल दोहन भी करते हैं। आप बताइए दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने गत सप्ताह विधायक भावना गौड़ के सहयोगियों के अवैध टैंकरों की पोल खोली थी, उन पर जल विभाग ने आज तक कोई कार्रवाई क्यों नही की ?

6. दिल्ली में वाटर लीकेज एवं चोरी 52 फीसद तक शुद्ध जल बर्बाद करते हैं। आप एक सिंगल मामला बताएं, जहां उन्होने खुद से वाटर लीकेज एवं चोरी रोकने के लिए योजनाबद्ध काम किया? बांसुरी स्वराज ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि आप राजनीतिक नौटंकी के बजाय जनता के सवालों का जवाब देंगी।

–आईएएनएस

एसएचके/सीबीटी

E-Magazine