यूपी के इन चार एक्सप्रेस वे पर लगेंगे 26 चार्जिंग स्टेशन

एक्सप्रेस वे को इलेक्ट्रिक वाहनों के मुफीद बनाने के लिए चार्जिंग स्टेशन बनने का रास्ता साफ हो गया है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे और गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे पर 26 ई चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएंगे।

ये स्टेशन अडानी टोटल एनर्जी के जरिये बनाए जाएंगे। इन स्टेशनों पर ‘बैटरी स्वैपिंग सिस्टम’ यानी बैटरी बदलने की सुविधा भी दी जाएगी। इसे शुरू करने से पहले सर्वे किया जाएगा। चार एक्सप्रेस वे को ई वाहनों के लिए भी तैयार किया जा रहा है।

इसके अंतर्गत आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चार, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे पर चार, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर चार और गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे पर दो चार्जिंग स्टेशनों का निर्माण होना है। मीटर से पहले का पूरा इंफ्रास्ट्रक्चर यूपीडा बनाएगा। इन्हें बनाने के लिए पिछले साल 20 अक्तूबर को आवेदन मांगे गए थे।

छह कंपनियों ने किया था आवेदन
टेंडर में छह कंपनियों ने आवेदन किया था। दौड़ में टेस्को चार्जजोन लिमिटेड, अडानी टोटल एनर्जी ई मोबिलिटी लिमिटेड, वर्दे मोबिलिटी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, सर्वोटेक पावर सिस्टम्स लिमिटेड, टाटा पावर ईवी चार्जिंग साल्यूशंस लिमिटेड और कैश योर ड्राइव मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड थे। सभी कंपनियों ने प्रति किलोवाट एवरेज सर्विस फीस आफर की थी।

अदाणी टोटल एनर्जी ने 9.74 रुपये, कैश योर ड्राइव ने 10.49 रुपये, वर्दे मोबिलिटी ने 12.96 रुपये, टाटा पावर ने 13.20 रुपये, सर्वोटेक ने 14.35 रुपये और टेस्को चार्ज जोन ने 21 रुपये प्रति किलोवाट की मांग रखी थी। कीमतों की लड़ाई में सबसे कम कीमत लगातर अडानी की कंपनी ने बाजी मार ली।
खास बात यह है कि अदाणी की कंपनी चार्जिंग स्टेशन में ही बैटरी स्वैपिंग सिस्टम भी विकसित करेगी। इसे शुरू करने से पहले डिमांड सर्वे किया जाएगा। इस संबंध में कंपनी को लेटर आफ अवार्ड यूपीडा ने जारी कर दिया है।
E-Magazine