आखिर व्हाट्सऐप नंबर देने की जरूरत क्यों पड़ी, सुनीता केजरीवाल की पीसी पर मनोज तिवारी का हमला

[ad_1]

नई दिल्ली, 29 मार्च (आईएएनएस)। भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत की। सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली सरकार पर हमला बोला।

मनोज तिवारी ने कहा कि सवालों का जवाब देने से पहले अरविंद केजरीवाल अपनी गिरफ्तारी को रोकने के लिए खुद कोर्ट चले गए थे। इसका मतलब उन्हें पता था कि हमारा जैसा भ्रष्टाचार है हम नहीं बच सकते, शायद कोर्ट हमको बचा ले, क्योंकि हम सीएम हैं।

उन्होंने कहा, हाईकोर्ट के न्यायाधीश ने उनसे कहा कि हम आपकी गिरफ्तारी नहीं रोक सकते। सबूत देखने के बाद हमें आश्चर्य हो रहा कि आप अभी तक गिरफ्तार क्यों नहीं हुए? अरविंद केजरीवाल को हाईकोर्ट ने कह दिया है कि आप कट्टर करप्ट हो।

भाजपा सासंद ने हर दिन सुनीता केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस को लेकर भी बयान दिया। उनका कहना है कि क्या प्रेस कॉन्फ्रेंस करने से अपराधी का अपराध कम हो जाता है। प्रेस कॉन्फ्रेंस कोई भी कर सकता है। इस देश में बहुत से बड़े-बड़े भ्रष्टाचारी हैं, उनकी पत्नियां आ सकती हैं। लेकिन सवाल यह है कि उनकी पत्नियां ही क्यों आ रही हैं? दिल्ली के लोग क्यों नहीं आ रहे, पत्नी ही क्यों आ रहीं, सुनीता ही क्यों आ रहीं। क्या दिल्ली के लोगों को आज व्हाट्सएप नंबर देने की जरूरत पड़ गई, जब आपके लिए कोई नहीं आ रहा है।

इसके अलावा उन्होंने बुजुर्गों की पेंशन बंद होने, गरीबों के राशन कार्ड बनने बंद होने, यमुना नदी में गंदगी और दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण और अन्य मुद्दों को लेकर केजरीवाल सरकार पर हमला किया।

भाजपा सांसद ने विपक्ष पर भी प्रहार किया। उन्होंने कहा कि हम विपक्ष से भी सुझाव लेते हैं। पीएम नरेंद्र मोदी कहते हैं कि विपक्ष कोई अच्छा सुझाव दे तो हम मान लेंगे। अभी उन्होंने अच्छा सुझाव दिया कि सभी की जांच होनी चाहिए और जांच हो गई तो फंस गए हैं। इसमें हम क्या कर सकते हैं? जो कानून है बीजेपी पर भी लागू होगा, आम आदमी पार्टी पर भी लागू होगा और कांग्रेस पर भी लागू होगा।

मुख्तार अंसारी की मौत को लेकर मनोज तिवारी ने कहा कि पूरी घटना पर जांच बैठ गई है। उनकी बॉडी का आज पोस्टमार्टम हो रहा है। इसलिए किसी भी तरह की अफवाहों में नहीं जाना है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। ये एक दुर्घटना हुई है उसकी पूरी जांच होगी।

–आईएएनएस

एफजेड/एसकेपी

[ad_2]

E-Magazine