'वोट फॉर मोदी, वोट फॉर नेशन' यात्रा की शुरुआत, बुलेटरानी राजलक्ष्मी ने मोदी सरकार की गिनाई उपलब्धियां (आईएएनएस इंटरव्यू)

लखनऊ, 13 अप्रैल (आईएएनएस)। ‘वोट फॉर मोदी, वोट फॉर नेशन’ का संदेश लेकर यात्रा पर निकलीं बुलेटरानी राजलक्ष्मी मंडा अब उत्तर प्रदेश में हैं। 12 फरवरी को 22 लोगों के दल के साथ मदुरै से प्रारंभ हुई यह यात्रा 18 अप्रैल को नई दिल्ली पहुंचने तक 21 हजार किलोमीटर की यात्रा को 65 दिन में पूरी करेगी।

आईएएनएस से खास बातचीत में बुलेटरानी राजलक्ष्मी मंडा ने कई सवालों के जवाब दिए। यहां पढ़िए उनसे बातचीत की खास बातें।

सवाल :- आप कई दक्षिण राज्यों से होते हुए यहां तक पहुंची हैं, दक्षिण में भाजपा की क्या स्थिति रहेगी?

जवाब :- मैंने कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र और तेलंगाना प्रदेशों का दौरा किया है। कर्नाटक में भाजपा को 22 से अधिक सीटें मिलेंगी। तमिलनाडु में 5 प्लस, आंध्र प्रदेश में 15 प्लस और तेलंगाना में 7 प्लस की बात कहने में मुझे कोई संकोच नहीं है।

सवाल :- विपक्ष कहां है, उनके बारे में क्या आकलन है आपका?

जवाब :- विपक्ष बिल्कुल निरीह कहा जा सकता है। उनके पास पीएम पद का कोई चेहरा नहीं है। अभी भी डिसाइड नहीं कर पा रहे हैं। गठबंधन में भी कोई क्लियरिटी नहीं है। उनकी बातें भी कम ही विश्वसनीय हैं। बयानों में लगातार विरोधाभास दिख रहा है। किनसे-किनसे गठबंधन है, यह भी साफ नहीं है। विरोध करना इनकी आदत बन चुकी है। इससे कुछ होने वाला नहीं है। ये पीएम मोदी का जितना विरोध करेंगे, वे उतने ही मजबूत होंगे।

सवाल :- जहां से आपने अपनी यात्रा शुरू की है, वहां से सनातन धर्म पर एक अभद्र टिप्पणी आई थी, क्या कहेंगी?

जवाब :- जिस व्यक्ति ने सनातन पर अभद्र टिप्पणी की थी, उसकी माता जी बिना पूजा-पाठ किए अन्न का एक टुकड़ा भी अपने मुंह में नहीं डालती हैं। उनके घर में सनातन धर्म के मुताबिक ही सबकुछ होता है। उनका बयान केवल वोटबैंक के लिए आया।

सवाल :- आपने अब तक इस तरह की कितनी यात्राएं की हैं?

जवाब :- इससे पहले हमने कई यात्राएं की हैं। रामेश्वरम से श्रीराम जन्मभूमि तक रामरथ यात्रा, ‘एक ही झंडा, एक ही देश’ नारे के साथ कन्याकुमारी से कश्मीर तक, देश के वैश्विक स्तर पर होने विकास को लेकर मदुरै से अटल टनल तक होने वाली यात्रा प्रमुख हैं। इस दौरान हमने 1.40 लाख किलोमीटर की यात्रा बुलेट से तय की है।

सवाल :- आप महिला हैं तो केंद्र सरकार द्वारा महिला सशक्तीकरण के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी भी होगी, केंद्र ने कितना काम किया है?

जवाब :- अनेक योजनाएं चल रही हैं। सभी जानते हैं। मैं इससे बहुत प्रभावित हूं। शिक्षा के क्षेत्र में बहुत काम हुआ है। इसके अलावा उज्ज्वला योजना ने महिलाओं को धुएं और जलावन की समस्या से निजात दिलाई है। मुद्रा योजना ने महिलाओं को जमीन पर पांव जमाने का अवसर दिया है। ट्रिपल तलाक ने मुस्लिम महिलाओं को राहत दी है। उनकी जिंदगी में खुशियां लौट आई है। सरकार ने सबको आवास देकर सुरक्षा दी है। जनऔषधि केंद्रों के माध्यम से 10 रुपये की दवा को महज 2 रुपये में उपलब्ध कराया गया है। 30 प्रतिशत का आरक्षण देकर केंद्र सरकार ने महिलाओं के किचेन से संसद तक पहुंचने की राह भी आसन कर दी है। बहुत काम हुआ है।

–आईएएनएस

विकेटी/एकेएस

E-Magazine