इंडिया गठबंधन में कोई गंभीरता नजर नहीं आती : रोहन गुप्ता

नई दिल्ली, 12 मई (आईएएनएस)। भाजपा नेता रोहन गुप्ता ने इंडिया गठबंधन में पीएम पद के उम्मीदवार को लेकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि इस सवाल का कोई औचित्य नहीं है। ये चुनाव देश के मुखिया चुनने का चुनाव है और लोग नरेंद्र मोदी को पीएम चुनने जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि स्वार्थ आधारित गठबंधन में कोई कहने को तैयार नहीं है कि इस गठबंधन का नेता कौन होगा। हर पार्टी का नेता अपनी उम्मीदवारी कर रहा है, ऐसी परिस्थिति में देश की जनता पीएम नरेंद्र मोदी की विश्‍वसनीयता के साथ खड़ी नजर आ ही है। पीएम मोदी के विजन और ट्रैक रिकॉर्ड के साथ देश की जनता जाने वाली है। सरकार बनने के बाद 100 दिन का एजेंडा तैयार है।

उन्होंने कहा कि इंडिया गठबंधन में कोई गंभीरता नजर नहीं आती। एक साथ एक मंच पर आने वाले सभी नेता एक-दूसरे को गाली दे रहे हैं। पश्चिम बंगाल, केरल, दिल्ली, पंजाब में एक-दूसरे को चुनावी मैदान में गाली दे रहे हैं। जनता को जवाब दें कि कौन सा नैरेटिव लेकर जनता के बीच जा रहे हैं। जनता जानना चाहती है कि आखिर ये रिश्ता क्या कहलाता है?

रोहन गुप्ता ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को लेकर कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता उन्हें अपना महसूस करते हैं। रायबरेली सीट पर उनका अधिकार था, लेकिन राहुल गांधी को मौका दिया गया। उनको आगे बढ़ाना कांग्रेस के लिए अच्छा होगा, लेकिन जिस प्रकार से उनको टिकट नहीं दिया तो सवाल तो उठेंगे। 4 जून के बाद कांग्रेस पार्टी के अंदर आंतरिक विरोध होगा कि आखिर प्रियंका गांधी को क्यों नहीं टिकट दिया गया। कांग्रेस पार्टी में युवा नेतृत्व को उभरने नहीं दिया जाता है।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के बयान पर रोहन गु्प्ता ने कहा कि कांग्रेस नेताओं के बयान सिर्फ बयान नहीं हैं, ये पार्टी की मानसिकता को दिखाते हैं। दिल्ली में बैठकर ये नेता उद्योगपति को गाली देते हैं और जिस राज्य में इनकी सरकार है, वहां ये उद्योगपति के साथ एमओयू करते हैं। उद्योगपतियों को कांग्रेस की ओर से गालियां इसलिए दी जाती हैं कि उन्हें फंड मिल जाएं। कांग्रेस का चेहरा उजागर हो चुका है।

–आईएएनएस

एकेएस/एबीएम

E-Magazine