केटीआर ने तेलंगाना में सरकारी नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों को दिया भरोसा : 'बीआरएस आपके साथ खड़ा है'

हैदराबाद, 21 नवंबर (आईएएनएस)। सरकारी विभागों में रिक्तियों को भरने में कथित विफलता और भर्ती परीक्षाओं के प्रश्‍नपत्रों के लीक होने को लेकर विपक्षी कांग्रेस और भाजपा के हमले के बाद बीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष के.टी. रामाराव ने सोमवार को सरकारी नौकरियों की तैयारी कर रहे युवाओं को आश्‍वासन दिया कि बीआरएस उनके साथ खड़ा है।

बीआरएस की सत्ता बरकरार रहने को लेकर आश्‍वस्त केटीआर ने वादा किया कि वह वोटों की गिनती के एक दिन बाद 4 दिसंबर की सुबह नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों से मिलेंगे।

उन्होंने मुख्य रूप से अशोक नगर में रहने वाले और तेलंगाना के विभिन्न जिलों से आने वाले उम्मीदवारों से मुलाकात की।

मंत्री केटीआर ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया : “अशोक नगर के सरकारी नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों के साथ एक गहन बातचीत हुई, जो आगे बढ़ने का रास्ता खोजने की उम्मीद के साथ मुझसे मिलने आए थे। उन्हें आश्‍वासन दिया कि भविष्य उज्ज्वल है और चुनाव के तुरंत बाद मैं उनसे उनके अड्डे पर मिलूंगा।”

फ़्रीव्हीलिंग इंटरेक्शन के दौरान उम्मीदवारों ने नौकरी कैलेंडर, टीएसपीएससी बोर्ड के पुनर्गठन, रद्द और स्थगित परीक्षाओं सहित अन्य से संबंधित कई सवाल पूछे।

केटीआर ने उन्हें आश्‍वासन दिया कि वह चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद 4 दिसंबर को अशोक नगर में सरकारी कर्मचारियों के साथ एक बैठक करेंगे, जिसमें सरकारी नौकरियों को भरने से संबंधित सभी मुद्दों पर गहन चर्चा की जाएगी।

उन्होंने कहा कि सरकारी नौकरियां पैदा करने में उनकी प्रतिबद्धता पर किसी के सवाल उठाने की कोई संभावना नहीं है, खासकर कांग्रेस ने, जो 2004-2014 तक सत्ता में रहने के दौरान प्रतिवर्ष 1,000 नौकरियां भी पैदा नहीं कर पाईं।

तत्कालीन आंध्र प्रदेश में कांग्रेस सरकार ने प्रतिवर्ष केवल 1,000 नौकरियां भरीं, लेकिन 9.5 वर्षों में, बीआरएस सरकार ने प्रति वर्ष 16,000 नौकरियां प्रदान कीं।

उन्होंने कहा कि बीआरएस सरकार 2 लाख 30 हजार सरकारी नौकरियों को भरने की प्रक्रिया जारी रखे हुए है। उन्होंने कहा, 1,62,000 से अधिक सरकारी नौकरियां पहले ही भरी जा चुकी हैं।

–आईएएनएस

एसजीके

E-Magazine