हीटवेव से स्मार्टफोन को ऐसे रखें सेफ

स्मार्टफोन ओवरहीट होने की वजह से कई परेशानियां खड़ी हो सकती हैं। हीटवेव क दौरान अगर आप अपने फोन को सेफ रखना चाहते हैं तो आपको कुछ चीजों का ख्याल रखना चाहिए। फोन के ज्यादा गरम होने से परफॉर्मेंस की रफ्तार धीमी हो जाती है। हीटवेव से स्मार्टफोन को सेफ रखने के लिए कोशिश करनी चाहिए कि फोन सीधे धूप के संपर्क में न आए।

देश के हर हिस्से में तपती धूप और चिलचिलाती गर्मी ने लोगों का जीना हाल-बेहाल कर रखा है। खुद का ख्याल रखने के लिए है तो हम कूलर-पंखे का सहारा ले लेते हैं। लेकिन, जब बात स्मार्टफोन को सेफ रखने की आती है तो हम दिक्कत में आ जाते हैं। जिसके कारण फोन के ब्लास्ट होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

यहां कुछ ऐसी चीजें बताने वाले हैं जो हीटवेव में फोन का ध्यान रखने में काम आएंगे। जिस तरह हमारे शरीर की तापमान झेलने की एक निश्चित सीमा होती है ठीक वैसे ही स्मार्टफोन के लिए भी एक निश्चित तापमान सेट किया जाता है।

हीटवेव से फोन को कैसे रखें सेफ
हीटवेव के दौरान स्मार्टफोन को सेफ रखने के लिए कुछ चीजों का आपको ध्यान रखना होगा।

सीधी धूप से बचाएं: हीटवेव से स्मार्टफोन को सेफ रखने के लिए कोशिश करनी चाहिए कि फोन सीधे धूप के संपर्क में न आए। सीधे धूप के संपर्क में आने पर फोन में ओवरहीट की प्रॉब्लम खड़ी हो सकती है।

अच्छी क्वालिटी के कवर यूज करें: ऐसे कवर खरीदें जो थर्मल इन्सुलेशन प्रदान करते हों। ये कवर आपके फोन के तापमान को नियंत्रित करने और उसे बाहरी गर्मी से सेफ रखने में मदद करते हैं।

ठंड़ी जगह रखें फोन: स्मार्टफोन कहीं भी रखने की बजाय किसी ऐसे स्थान पर रखें जहां तापमान कम हो। फोन को गर्म सतहों पर रखने या सीधे धूप में रखने से बचना चाहिए।

गरम कार में न रखें फोन: कभी भी स्मार्टफोन को धूप में खड़ी कार में नहीं रखना चाहिए। ऐसा होने से फोन के ब्लास्ट होने के चांसेस बढ़ जाते हैं।

एयरप्लेन मोड: अगर फोन के गरम होने की परेशानी आ रही है तो उसे कुछ देर के लिए एयरप्लेन मोड पर छोड़ दें। ऐसा करने से फोन ठंड़ा हो जाएगा।

अपडेटेड सॉफ्टवेयर: हमेशा स्मार्टफोन को लेटेस्ट सॉफ्टवेयर के साथ ही इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसा करने से फोन में मैलेशियस एक्टिविटी होने के चांसेस कम हो जाते हैं और फोन हीट भी नहीं करता है।

बैटरी सेवर मोड: बैटरी सेवर मोड का इस्तेमाल करना इस मौसम में आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है। इससे प्रोसेसर पर कम दबाव पड़ता है और बैटरी खपत भी कम होती है।

फोन ओवरहीट होने के नुकसान
स्मार्टफोन ओवरहीट होने के कई नुकसान होते हैं। फोन के गरम होने से प्रोसेसर धीरे काम करना शुरू कर देता है। एप्स के परफॉर्मेंस पर इससे असर पड़ता है। ज्यादा तापमान की वजह से बैटरी परफॉर्मेंस पर भी असर पड़ता है।

E-Magazine