लखनऊ हवाईअड्डे के टर्मिनल 3 के शुभारंभ पर करण अदाणी बोले : आज हम इतिहास रच रहे हैं

[ad_1]

लखनऊ, 10 मार्च (आईएएनएस)। अदाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक करण अदाणी ने यहां रविवार को कहा, “आज हम इतिहास रच रहे हैं। यह नया इंटीग्रेटेड टर्मिनल 3 सीसीएसआईए, लखनऊ में चौधरी चरण सिंह अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे को उत्तर प्रदेश के प्रवेशद्वार में बदल देगा और हमारी सामूहिक दृष्टि के लिए प्रगति और वसीयतनामा का जश्‍न भी मनाएगा।”

टर्मिनल 3 के चरण-I को प्रतिवर्ष 80 लाख यात्रियों को समायोजित करने के लिए डिजाइन और यंत्रीकरण किया गया है, जो इस शहर की आबादी का दो गुना है।

उन्होंने सभा को बताया कि 2,400 करोड़ रुपये के शुरुआती निवेश के साथ यह अत्याधुनिक सुविधा यात्री अनुभव को बढ़ाएगी और परिचालन प्रभावकारिता को एक नए स्तर पर ले जाएगी।

करण अदाणी ने भारत को वैश्विक आर्थिक महाशक्ति में बदलने के पीएम मोदी के दृष्टिकोण की सराहना की और कहा कि बुनियादी ढांचे के आधुनिकीकरण और सतत विकास को बढ़ावा देने पर सरकार का ध्यान देश में विश्‍व स्तरीय हवाईअड्डे बनाने के अदाणी समूह के मिशन के अनुरूप है।

करण अदाणी ने कहा, “सीसीएसआईए के लिए हमारा दृष्टिकोण बड़ा और दूरगामी है। मास्टर प्लान का लक्ष्य 2047-48 तक सालाना 3.8 करोड़ यात्रियों को सेवा प्रदान करने के लिए हवाईअड्डे की क्षमता का विस्तार करना है। यह तेजी से वृद्धि उत्तर प्रदेश की एक ट्रिलियन-डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की आकांक्षा का समर्थन करने की हमारी रणनीति की आधारशिला है। इस विकास के माध्यम से हम केवल बुनियादी ढांचे का निर्माण नहीं कर रहे हैं, बल्कि 13,000 से अधिक प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा कर रहे हैं, इस तरह इस क्षेत्र और राज्य की आर्थिक उन्नति में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं।”

उन्होंने अत्याधुनिक डिजाइन पर जोर देते हुए कहा, “जिस क्षण से यात्री टर्मिनल टी 3 में कदम रखते हैं, उनका स्वागत स्वागत दीवार से किया जाता है। यह एक शानदार प्रदर्शन है, जो लखनऊ के क्षितिज के सार को दर्शाता है, जिसमें शामिल है “बसंत बहार” का पुष्प उत्सव, “उत्तर प्रदेश के घाटों” की शांत सुंदरता,और अभिनव “रोहू के प्रतिबिंब” स्थापना।

उन्होंने बताया, “हमारा लक्ष्य टी3 के जरिए न केवल एक विश्‍वस्तरीय हवाईअड्डा बनाना है, बल्कि हम इसे लखनऊ और उत्तर प्रदेश के गौरव के प्रतीक में भी बदलना चाहते हैं। यह इस बात का सटीक प्रमाण है कि जब हम एक साथ काम करते हैं तो हम क्या हासिल कर सकते हैं।”

उन्होंने आगे कहा कि योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व में उत्तर प्रदेश असाधारण विकास के युग में प्रवेश कर चुका है।

करण अदाणी ने कहा, “निवेश और पर्यटन के लिए भारत के अग्रणी गंतव्य के रूप में उत्तर प्रदेश की स्थिति सुनिश्चित करने के लिए आपकी अटूट प्रतिबद्धता टी3 जैसी परियोजनाओं को आगे बढ़ाने में सहायक रही है। राज्यभर में बुनियादी ढांचे और कनेक्टिविटी में सुधार के लिए आपका समर्पण राष्ट्र के लिए प्रधानमंत्री के भव्य दृष्टिकोण को दर्शाता है। आपके दृढ़ संकल्प ने उत्तर प्रदेश को एक आर्थिक महाशक्ति के रूप में उभरने का मार्ग प्रशस्त किया है।”

–आईएएनएस

एसजीके/

[ad_2]

E-Magazine