आरोपी राणा के होटल और आलीशान कोठी पर चला बुलडोजर

पीलीभीत बाईपास पर प्लॉट पर कब्जे के लिए बीच सड़क दो घंटे तक गोलीबारी कराने के बाद फरार मुख्य आरोपी राजीव राणा के संजयनगर में बने सिटी स्टार होटल एंड रेस्टोरेंट, कार्यालय और आलीशान कोठी को बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया गया। प्रशासन की इस कार्रवाई के बीच पांच दिन से फरार राणा ने पत्नी और बेटी के साथ मौके पर पहुंचकर पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया लेकिन कार्रवाई नहीं रुकी। शाम तक कुछ हिस्सा छोड़कर लगभग पूरी इमारत को ध्वस्त कर दिया गया। पीलीभीत बाईपास पर 22 जून की सुबह भाड़े के बदमाशों के जरिए कराई गई भीषण गोलीबारी की घटना ने पूरे शहर को दहला दिया था। 

बुलडोजर और पोकलैंड मशीनों से 4 मंजिल इमारत किया जमींदोज
मुख्य आरोपी राजीव राणा और उसका प्रमुख सहयोगी हिस्ट्रीशीटर केपी यादव इस घटना के बाद फरार हो गया था। राणा और केपी की गिरफ्तारी के लिए गठित पांच पुलिस टीमों के लगातार दबिश देने के बाद भी उनका कोई सुराग नहीं लग पाया तो प्रशासन ने उसकी अवैध संपत्तियों पर कार्रवाई का फैसला लिया। जांच में पता चला कि संजयनगर में उसकी कोठी, होटल और कार्यालय बीडीए से नक्शा मंजूर कराए बगैर बनाया गया है। पुलिस प्रशासन और बीडीए के अधिकारियों ने बुधवार को इन्हें ध्वस्त करने की योजना बनाई। गुरुवार सुबह 11 बजे चार बुलडोजर और पोकलैंड मशीनों से संजयनगर मेन रोड पर बनी तीनों इमारतों को ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू की गई। दोपहर डेढ़ बजे राजीव राणा ने पत्नी-बेटी के साथ मौके पर पहुंचकर आत्मसमर्पण कर दिया और अपने पक्ष में कई दस्तावेज दिखाते हुए पुलिस-प्रशासन पर गलत कार्रवाई करने का आरोप लगाया लेकिन प्रशासन ने अपनी कार्रवाई नहीं रोकी। राणा को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले जाया गया जहां काफी देर पुलिस अधिकारियों ने पूछताछ करने के बाद उसे थाना इज्जतनगर भेज दिया। अब इज्जतनगर पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। बता दें कि इस घटना की गूंज शासन तक पहुंची थी। शासन ने इसकी रिपोर्ट तलब की थी। पुलिस 12 नामजद और 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर अब तक 21 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। 

एनएसए और गैंगस्टर एक्ट के तहत भी की जाएगी  कार्रवाईः आईजी 
आईजी डॉ. राकेश सिंह ने बताया कि गोलीकांड के मुख्य आरोपी राजीव राणा के घर और होटल को बुलडोजर चलाकर जमींदोज कर दिया गया है। राणा भी गिरफ्तार हो गया है। सभी आरोपियों की संपत्ति चिह्नित की जा रही है। उन पर एनएसए और गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जाएगी।

E-Magazine