एयर स्ट्राइक पर CM रेवंत रेड्डी के उठाए सवाल पर BJP का तीखा हमला

भाजपा ने शनिवार को कहा कि आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को क्लीन चिट देकर कांग्रेस सेना की बहादुरी पर सवाल उठा रही है। पुलवामा आतंकी हमले के बाद की गई एयर स्ट्राइक पर तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी द्वारा सवाल उठाए जाने के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर तीखा हमला बोला है।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा, जिस तरह से कांग्रेस पाकिस्तान और आतंकवाद के पक्ष में खड़ी हो रही है और उन्हें क्लीन चिट दे रही है स्पष्ट हो गया है कि ये महज संयोग नहीं, बल्कि जानबूझकर किया गया प्रयोग है।

सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाया

तेलंगाना के सीएम रेवंत रेड्डी पुलवामा हमले को लेकर न केवल पाकिस्तान को क्लीन चिट दे रहे हैं, बल्कि उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक पर भी सवाल उठाया। मोदी का विरोध करने की कोशिश में कांग्रेस सेना की वीरता पर सवाल उठा रही है और पाकिस्तान को क्लीन चिट देकर भारत को सवालों के घेरे में खड़ा कर रही है। वे पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर आतंकवाद के आरोपों से खुद को बचाने का रास्ता दे रहे हैं। इसलिए उन्हें पाकिस्तान से समर्थन मिल रहा है।

नरेन्द्र मोदी और भाजपा से छुटकारा पाने का समय आ गया

रेवंत ने पुलवामा हमले को रोकने में विफल रहने के लिए भाजपा के नेतृत्व वाले राजग सरकार को दोषी ठहराते हुए शुक्रवार को कहा था, नरेन्द्र मोदी और भाजपा से छुटकारा पाने का समय आ गया है। वे पुलवामा हमले को रोकने में विफल रहे। हमारा खुफिया नेटवर्क क्या कर रहा था?

पीएम मोदी ने एयर स्ट्राइक से चुनावी लाभ उठाने का प्रयास किया

रेड्डी ने कहा, मोदी जी ने पुलवामा घटना के बाद एयर स्ट्राइक से चुनावी लाभ उठाने का प्रयास किया। मैं पूछना चाहता हूं, आपने आइबी और रा जैसी एजेंसियों की मदद क्यों नहीं ली? कोई भी यकीनी तौर पर नहीं जानता कि एयर स्टाइक की गई थी या नहीं। पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को किया गया था, जब आत्मघाती हमलावर ने आइईडी से भरे वाहन को सीआरपीएफ की बस से टकरा दिया था। इसके बाद 26 फरवरी को वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी ठिकाने पर एयर स्ट्राइक की थी।

जनता चार जून को देगी सर्जिकल स्ट्राइक का साक्ष्य

केंद्रीय मंत्री जी. किशन रेड्डी ने शनिवार को कहा कि रेवंत रेड्डी सर्जिकल स्ट्राइक का साक्ष्य मांग रहे हैं। जनता चार जून को लोकसभा चुनाव परिणाम के दिन इसका साक्ष्य देगी। उन्होंने कहा, वह सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत साक्ष्य रहे हैं। राहुल गांधी समेत कांग्रेस नेताओं ने पहले भी साक्ष्य मांगे हैं। हमारे सशस्त्र बलों के बलिदान और समर्पण स्पष्ट हैं। जनता उन्हें चार जून को इसका साक्ष्य देगी।

E-Magazine