कोच्चि में बीमार पिता को घर में अकेले छोड़कर चला गया बेटा

पिता अपने बेटे की हर इच्छा पूरी करने के लिए सबकुछ दांव पर लगा देता है। वही बेटा उम्र ढलने के बाद अगर उसे अकेला छोड़ दे तो बुजुर्ग पिता की स्थिति क्या होगी। कोच्चि में ऐसा ही मामला सामने आया है।

अजित अपने बूढ़े पिता और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ किराए के मकान में रहता था। वह मकान खाली कर चला गया। उसने अपने बूढ़े और बीमार पिता 70 वर्षीय शनमुघम को उसी मकान में छोड़ दिया।

आरोपी बेटे ने बिना बताए घर खाली कर दिया

अजित के मकान मालिक ने कहा कि उन्हें कुछ समय से किराया नहीं मिल रहा था और उन्होंने इसके लिए पुलिस से संपर्क किया था। उसने पुलिस से कहा था कि वह घर खाली कर देगा, लेकिन उसे कुछ और समय चाहिए। कल ही किसी ने बताया कि मेरा घर खाली कर दिया गया है, लेकिन उसने अपने पिता को छोड़ दिया।

बूढ़े और असहाय पिता बिस्तर पर लेटे थे

जब मैं अपने घर पहुंचा तो देखा कि पूरा घर खाली है लेकिन उसके बूढ़े और असहाय पिता बिस्तर पर लेटे थे। मैंने तुरंत पुलिस को इसकी सूचना दी। एसआई रेशमा ने कहा कि हम साइबर पुलिस की मदद से जल्द ही उसका पता लगा लेंगे। उसके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

E-Magazine