केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ आज देश भर में भाजपा कार्यालयों पर आप का प्रदर्शन

नई दिल्ली, 29 जून (आईएएनएस)। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की “अवैध” गिरफ्तारी के खिलाफ आम आदमी पार्टी शनिवार को देश भर में भाजपा कार्यालयों पर विरोध-प्रदर्शन करेगी।

पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत आप कार्यकर्ता भाजपा के दिल्ली स्थित मुख्यालय पर करीब 11.30 बजे विशाल विरोध-प्रदर्शन करेंगे। इसी तरह, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश समेत 22 राज्यों में भाजपा के प्रदेश मुख्यालयों पर आप कार्यकर्ता विरोध-प्रदर्शन करेंगे।

आप का कहना है कि अरविंद केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने वाली थी, तभी भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने सीबीआई से उन्हें गिरफ्तार करा लिया। भाजपा, आम आदमी पार्टी को खत्म करना चाहती है और अरविंद केजरीवाल को चुनावों से दूर रखना चाहती है। इसीलिए, केजरीवाल पर फर्जी मुकदमे लगाकर उन्हें फंसाने की कोशिश कर रही है।

आप का कहना है कि भाजपा की केंद्र सरकार अपने राजनीतिक उद्देश्यों के लिए सभी केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। सीबीआई ने पिछले दो साल तक सीएम अरविंद केजरीवाल को तथाकथित शराब घोटाले में आरोपी नहीं बनाया था। लेकिन जब भाजपा को लगा कि अरविंद केजरीवाल को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिलने वाली है, तो इन्होंने सीबीआई को आगे कर दिया। इनका मकसद किसी केस की जांच करना नहीं है और न ही इन्हें कानून से कोई लेना-देना है। भाजपा चाहती है कि किसी भी तरह से अरविंद केजरीवाल को जेल में रखा जाए, उन्हें चुनावों से दूर रखा जाए और आप को खत्म किया जाए। इसलिए, भाजपा अपने राजनीतिक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए केंद्रीय संस्थाओं का दुरुपयोग कर रही है।

आम आदमी पार्टी के मुताबिक, तथाकथित शराब मामले में ट्रायल कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल को जमानत दे दी थी। इसके अगले ही दिन ईडी हाईकोर्ट पहुंच गई और उनकी जमानत पर स्टे ले लिया। इस मामले में हाईकोर्ट से अरविंद केजरीवाल की जमानत पर लगी रोक सुप्रीम कोर्ट से हटने ही वाली थी, तभी सीबीआई ने उनको गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले, सीबीआई ने 16 अप्रैल 2023 को पहली बार केजरीवाल को बतौर गवाह पूछताछ के लिए बुलाया था। तब उसने उनको आरोपी नहीं बनाया था और 14 महीने तक सीबीआई को केजरीवाल को आरोपी बनाने की याद नहीं आई? अब अचानक सीबीआई इतने समय बाद जागी और केजरीवाल को गिरफ्तार लिया।

–आईएएनएस

पीकेटी/एकेजे

E-Magazine