महिला सशक्तीकरण में मदद कर सकता है योग : आयुष सचिव

[ad_1]

नई दिल्ली, 13 मार्च (आईएएनएस)। आयुष मंत्रालय के सचिव राजेश कोटेचा ने बुधवार को कहा कि योगा महिलाओं को सशक्त करने की दिशा में एक व्यापक उपकरण के रूप में उभरकर सामने आ रहा है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के 10वें संस्करण के 100 दिन के काउंटडाउन के मौके पर विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने ये बातें कहीं।

प्रतिवर्ष 21 जून को मनाए जाने वाले इस वर्ष का विषय ‘महिला सशक्तिकरण के लिए योग’ है।

राजेश कोटेचा ने कहा, “महिलाओं को सशक्त करने की दिशा में योगा एक उपयुक्त उपकरण है, जिसमें महिलाओं को सशक्त बनाना, उनके शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक, सामाजिक और आध्यात्मिक कल्याण शामिल है।”

उन्होंने आगे कहा, “सशक्त महिलाएं नेता, शिक्षक और परिवर्तन की वकालत करने वाली, समाज में समावेशिता, विविधता और सशक्तिकरण को बढ़ावा देने वाली भूमिका निभाती हैं।”

इसके अलावा राजेश कोटेचा ने कहा कि योग महोत्सव 2024 का उद्देश्य महिलाओं की भलाई और वैश्विक स्वास्थ्य और शांति को बढ़ावा देने पर ध्यान देने के साथ योग को एक व्यापक आंदोलन के रूप में आगे बढ़ाना है।

आयुष मंत्रालय ने महिलाओं को प्रभावित करने वाली विभिन्न स्थितियों पर अध्ययन का सक्रिय रूप से समर्थन किया है, जिसमें पीसीओएस/पीसीओडी, तनाव प्रबंधन और इसी तरह की अन्य चीजें शामिल हैं, ताकि महिलाओं की उम्र या स्थिति की परवाह किए बिना उनके स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित किया जा सके।

–आईएएनएस

एसएचके/एसकेपी

[ad_2]

E-Magazine