शी चिनफिंग की यूरोप यात्रा सफल रही

बीजिंग, 11 मई (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 5 से 10 मई तक फ्रांस, सर्बिया और हंगरी की राजकीय यात्रा की। इस यात्रा की चर्चा में चीनी विदेशी मंत्री वांग यी ने कहा कि यह मित्रता का विकास करने, एकता को बढ़ावा देने और भविष्य को खोलने की सफल यात्रा है। वर्ष 2024 में यह शी चिनफिंग की पहली विदेश यात्रा है। इस साल चीन और फ्रांस के बीच कूटनीतिक संबंधों की स्थापना की 60वीं वर्षगांठ है।

फ्रांस की यात्रा के दौरान दोनों देशों के नेताओं ने लंबे समय तक उच्च स्तरीय रणनीतिक संपर्क किया।

शी चिनफिंग ने कहा कि दोनों पक्षों को स्वतंत्रता, आपसी समझ, दूरदर्शिता और पारस्परिक लाभ के आधार पर नए युग में चीन-फ्रांस संबंधों में नई उम्मीद जगानी होगी।

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन ने शी चिनफिंग के विचार का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि अब दुनिया में जटिल चुनौतियां मौजूद हैं। फ्रांस-चीन संबंध वैश्विक चुनौतियों के मुकाबले और समूह टकराव से बचने में अहम और सक्रिय भूमिका निभाएंगे।

वहीं, सर्बिया की यात्रा के दौरान शी चिनफिंग ने सर्बिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वुसिक के साथ मुलाकात में कहा कि चीन और सर्बिया के बीच लौहे की तरह मज़बूत मित्रता अंतर्राष्ट्रीय परिस्थिति में हुए परिवर्तन की परीक्षा में खरी उतर चुकी है। चीन और सर्बिया ने नये युग में साझे भविष्य वाले समुदाय का निर्माण करने की घोषणा की। दोनों पक्षों को एक दूसरे के मूल हितों और चिंताओं का दृढ़ समर्थन करने के साथ राजनीतिक आधार मज़बूत करना होगा।

सर्बिया के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वुसिक ने कहा कि सर्बिया मूल हितों की रक्षा में चीन का दृढ़ समर्थन करेगा और चीन के साथ घनिष्ठ रणनीतिक सहयोग करेगा।

उधर, इस साल चीन और हंगरी के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 75वीं वर्षगांठ है। द्विपक्षीय संबंध इतिहास में सबसे अच्छे दौर से गुजर रहे हैं। यात्रा के दौरान शी चिनफिंग ने अलग-अलग तौर पर हंगरी के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के साथ लंबे समय तक वार्ता की। चीन और हंगरी ने द्विपक्षीय संबंधों को नये युग में सभी मौसमों के अनुरूप व्यापक रणनीतिक साझेदारी तक पहुंचाने की घोषणा की।

हंगरी के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों ने शी चिनफिंग की सिलसिलेवार वैश्विक पहलों का उच्च मूल्यांकन किया और कहा कि हंगरी दृढ़ता से चीन का घनिष्ठ दोस्त बने रहेगा। यात्रा के दौरान शी चिनफिंग और यूरोपीय नेताओं ने यूक्रेन संकट और फिलीस्तीन-इज़राइल मुठभेड़ आदि अंतर्राष्ट्रीय व क्षेत्रीय मामलों पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया।

वर्तमान यात्रा की चर्चा में चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि शी चिनफिंग की पत्नी फंग लीयुआन के कूटनीतिक कार्यक्रम भी ध्यानाकर्षक रहे। इससे चीन के प्रति विदेशी लोगों की अच्छी छवि बनाने में सक्रिय भूमिका निभायी गयी।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

–आईएएनएस

एसकेपी/

E-Magazine