बटलर के बिना कौन बनेगा राजस्थान का ओपनर? (प्रीव्यू)

गुवाहाटी,14 मई (आईएएनएस)। राजस्‍थान रॉयल्‍स बुधवार को पंजाब किंग्‍स के ख़‍िलाफ़ प्‍लेऑफ़ में जगह पक्‍की करने के इरादे से गुवाहाटी में उतरेगी। हालांकि राजस्थान के सामने सबसे बड़ी समस्‍या जोस बटलर का साथ छोड़ना हो गई है। राजस्थान अब उनकी जगह किसे ओपनर के तौर पर उतारती है यह देखना दिलचस्‍प होगा।

यह मैच जीतकर जहां राजस्थान प्‍लेऑफ़ में जगह पक्‍की करना चाहेगी तो वहीं बाहर हो चुकी पंजाब किंग्स उनके रास्‍ते में अड़ंगा डालने उतरेगी। तो चलिए एक नज़र डालते हैं इस मैच से जुड़े अहम आंकड़ों पर:

बटलर की जगह कौन

आईपीएल 2024 में राजस्थान के शीर्ष चार जोस बटलर, यशस्‍वी जायसवाल, संजू सैमसन और रियान पराग पक्‍के रहे हैं। लेकिन इससे नीचे उन्‍होंने पिछले कुछ मैचों में बहुत बदलाव किए हैं, जहां शिवम दुबे, शिमरॉन हेटमायर और रोवमन पॉवेल को अंदर-बाहर किया गया है। अब क्‍योंकि इस मैच से पहले बटलर स्‍वदेश लौट गए हैं तो राजस्थान को इसका समाधान करना होगा। एक विकल्‍प यह है कि वे ध्रुव जुरेल को शीर्ष क्रम में इस्‍तेमाल कर सकते हैं या फ‍िर एक और विकल्‍प है कि टॉम कोहलर कैडमोर के साथ शीर्ष क्रम पर जा सकते हैं। हां वह बटलर जैसी क़ाबिलियत के बल्‍लेबाज़ नहीं है कि लेकिन शीर्ष क्रम पर वह टीम को अच्‍छी शुरुआत दिलाने में सक्षम हैं।

क्‍या बोल्‍ट बल्‍लेबाज़ों को परेशान कर सकेंगे

ट्रेंट बोल्‍ट ने अपने आईपीएल करियर में 10 मैच सात अलग-अलग टीमों के ख़‍िलाफ़ खेले हैं। उनकी सबसे ख़राब प्रदर्शन पंजाब किंग्स के ही ख़‍िलाफ़ है जहां पर उनकी 43.6 की औसत और 9.98 का इकॉनमी रेट है। लेकिन इस बार बोल्‍ट के लिए पॉज़‍िटिव बात यह है कि उन्‍होंने इस सीज़न सबसे अधिक विकेट पहले तीन ओवरों में लिए हैं, जब गेंद नई रहती है। वहीं पंजाब ने इस सीज़न 1 से 3 ओवरों के बीच 10 विकेट गंवाए हैं, जो इस सीज़न तीसरा सबसे अधिक है।

बोल्‍ट नई गेंद से विरोधी टीम के बल्‍लेबाज़ों को परेशान करने की उम्‍मीद कर रहे हैं होंगे नहीं तो वह बेयरस्‍टो को रोकने में नाक़ामयाब होंगे जो बोल्‍ट पर नौ पारियों में दो ही बार आउट हुए हैं और उनकी औसत 44 और स्‍ट्राइक रेट 172 का है।

अर्शदीप को विश्‍व कप से पहले फ़ॉर्म की तलाश

पंजाब के गेंदबाज़ी आक्रमण के अर्शदीप सिंह नेतृत्‍वकर्ता हैं, लेकिन इस सीज़न बायें हाथ के तेज़ गेंदबाज़ ने काफ़ी संघर्ष किया है। पिछले साल की तुलना में अर्शदीप के दायें हाथ के बल्‍लेबाज़ों के ख़‍िलाफ़ नंबर औसत और इकॉनमी के हिसाब से बेहतर हुए हैं। हालांकि बायें हाथ के बल्‍लेबाज़ों के ख़‍िलाफ़ 2023 की तुलना में ख़राब प्रदर्शन हुआ है, जहां उनकी इकॉनमी रेट 12 रन प्रति ओवर हो गई है। वहीं राजस्थान की टीम ने बायें हाथ के तेज़ गेंदबाज़ों के ख़‍िलाफ़ अच्‍छा प्रदर्शन किया है, उनका औसत 37 है जो लीग में तीसरा सर्वश्रेष्‍ठ है, वहीं स्‍ट्राइक रेट भी 153 का है।

पिछले सीज़न से इस बार जायसवाल की फ़ॉर्म वैसी नहीं रही है, उन्‍होंने पड़‍िक्‍कल को भी खो दिया है तो उनके दायें हाथ के बल्‍लेबाज़ों ने अधिक 80 प्रतिशत गेंद खेली हैं, जो 2023 से बहुत अधिक है और इससे अर्शदीप मैच में आ जाते हैं।

–आईएएनएस

आरआर/

E-Magazine