लखनऊ के टर्मिनल थ्री में क्या है खास..? करण अदाणी ने बताया सब कुछ

पीएम मोदी ने यूपी के राजधानी लखनऊ में चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के नए टर्मिनल का उद्घाटन किया। जहां,उनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और अदाणी समूह के मैनेजिंग डायरेक्टर करण अदाणी भी मौजूद रहे। इस मौके पर अदाणी समूह के मैनेजिंग डायरेक्टर करण अदाणी ने वाहन मौजूद लोगों को सम्बोधित करते हुए इस टर्मिनल के खासियतों से रूबरू करवाया। उन्होंने कहा कि, “हम इस डेवलपमेंट के जरिए सिर्फ इंफ्रास्ट्रक्चर ही नहीं बल्कि इस तरह के डेवलपमेंट की मदद से हम प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप के 13 हजार नौकरियां देने का भी काम करेंगे। तो चलिए जानते है इस टर्मिनल से जुड़े अन्य विशेषताओं को…

‘टर्मिनल थ्री’ की विशेषताओं पर चर्चा करते हुए उन्होंने बताया कि, यह सिर्फ एक टर्मिनल नहीं है। इससे ख़ास प्रक्रिया से तैयार किया गया है। बाहर से आये सैलानियों का यहाँ विशेष तरह से स्वागत किया जाएगा। जिसमें लखनऊ की झलक दिखेगी।

एयरपोर्ट पर आये यात्रियों का होगा विशेष तरह से स्वागत

बता दें, इस टर्मिनल पर एक विशेष तरह का डिस्प्ले भी लगाया गया है, जिसमें बसंत बहार के नाम से फ्लावर फेस्टिवल भी लोग देख सकेंगे। साथ ही आपको इस डिस्प्ले पर उत्तर प्रदेश के विशेष घाट भी देखने को मिलेंगे।

डिजी यात्रा और ऑटोमेटेड बैगेज सिस्टम लागू

करण अदाणी ने आगे कहा कि, “तकनीक के ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल पर भी हमारा फोकस है। जिसके चलते हम आधुनिक तकनीक के इस्तेमाल से एविएशन सेक्टर में लीडर के तौर पर आगे बढ़ रहे हैं। तकनीक के इस्तेमाल से हमने डिजी यात्रा और ऑटोमेटेड बैगेज सिस्टम को लागू किया है। तकनीक के इस तरह से इस्तेमाल से ना सिर्फ यात्रियों को सुविधा मिलेगी बल्कि अत्याधुनिक तकनीक के इस्तेमाल वाले हमारे संकल्प को भी मजबूती मिली है।

हम इस टर्निमल थ्री के निर्माण से एयरपोर्ट को एक विश्व स्तर का एक एयरपोर्ट बनाना चाहते हैं। हमारा मानना है कि आने वाले समय में इसकी वजह से लखनऊ और पूरे उत्तर प्रदेश को इसपर गर्व हो। साथ मिलकर काम कितना बेहतर हो सकता है ये टर्मिनल इस बात का भी उदाहरण है।

1,11,367 लाख वर्ग मीटर में फैला हुआ है Terminal 3

आपकी जानकारी के लिए बता दें यूपी के राजधानी लखनऊ का नया टर्मिनल 1,11,367 लाख वर्ग मीटर में फैला हुआ है। नए टर्मिनल के निर्माण में अनुमानित लागत 1 हजार 383 करोड़ रुपये लगे हैं।

एक नजर टर्मिनल 3 के विशेषताओं पर….

  • डिजी यात्रा
  • दिल्ली की तरह लखनऊ एयरपोर्ट के टी 3 पर इनलाइन बैगेज हैंडलिंग की सुविधा
  • घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ान के यात्रियों के लिए अलग-अलग काउंटर
  • घरेलू यात्रियों के लिए 60 चेक इन और 12 कियॉस्क होंगे
  • अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए 15 चेक इन और 3 कियॉस्क
  • आगमन के लिए 20 इमिग्रेशन काउंटर और प्रस्थान के लिए 16 इमिग्रेशन काउंटर
  • 1500 कारों के लिए मल्टीलेवल पार्किंग
  • 30 लिफ्ट और 5 एक्सीलेटर
E-Magazine