सुशील मोदी की निधन से राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के दिग्गज नेता सुशील कुमार मोदी का सोमवार देर रात निधन हो गया। वह कैंसर से पीड़ित थे। सुशील मोदी ने दिल्ली एम्स में 72 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। वहीं, सुशील मोदी के निधन की खबर मिलते ही राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर दौड़ गई।

बिहार में खिलाया था कमल- PM Modi

प्रधानमंत्री ने सुशील मोदी के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि पार्टी में अपने मूल्यवान सहयोगी और दशकों से मेरे मित्र रहे सुशील मोदी के असामयिक निधन से अत्यंत दुख हुआ है। बिहार में भाजपा के उत्थान और उसकी सफलताओं के पीछे उनका अमूल्य योगदान रहा है। आपातकाल का पुरजोर विरोध करते हुए, उन्होंने छात्र राजनीति से अपनी एक अलग पहचान बनाई थी। वे बेहद मेहनती और मिलनसार विधायक के रूप में जाने जाते थे।

जीएसटी पारित होने में रही सक्रिय भूमिका 

पीएम मोदी ने कहा कि राजनीति से जुड़े विषयों को लेकर उनकी समझ बहुत गहरी थी। उन्होंने एक प्रशासक के तौर पर भी काफी सराहनीय कार्य किए। जीएसटी पारित होने में उनकी सक्रिय भूमिका सदैव स्मरणीय रहेगी। शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और समर्थकों के साथ हैं। ओम शांति!

बिहार की राजनीति में उभरी है शून्यता- अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हमारे वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी के निधन की सूचना से आहत हूं। आज बिहार ने राजनीति के एक महान पुरोधा को हमेशा के लिए खो दिया। ABVP से भाजपा तक सुशील ने संगठन व सरकार में कई महत्त्वपूर्ण पदों को सुशोभित किया।

उन्होंने कहा कि उनकी राजनीति गरीबों व पिछड़ों के हितों के लिए समर्पित रही। उनके निधन से बिहार की राजनीति में जो शून्यता उभरी है, उसे लंबे समय तक भरा नहीं जा सकता। दुःख की इस घड़ी में पूरी भाजपा उनके शोकाकुल परिवार के साथ खड़ी है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें।

विद्यार्थी परिषद से लेकर संगठन तक किया काम- जेपी नड्डा

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सुशील मोदी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने एक्स पोस्ट में कहा कि बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के निधन का समाचार अत्यंत दुःखद है। विद्यार्थी परिषद से लेकर अभी तक हमने साथ में संगठन के लिए लंबे समय तक काम किया। सुशील मोदी का पूरा जीवन बिहार के लिये समर्पित रहा।

उन्होंने कहा कि बिहार को जंगलराज से बाहर निकालकर विकास के पथ पर लाने में सुशील मोदी का प्रयास बहुत मददगार रहा है। उनका ना होना असंख्य कार्यकर्ताओं के लिए यह एक अपूरणीय क्षति है ।

51-52 वर्षों का था साथः लालू यादव

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने सुशील मोदी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ के समय यानि विगत 51-52 वर्षों से हमारे मित्र भाई सुशील मोदी के निधन का अति दुःखद समाचार प्राप्त हुआ। वे एक जुझारू, समर्पित सामाजिक राजनीतिक व्यक्ति थे। ईश्वर दिवंगत आत्मा को चिर शांति तथा परिजनों को दुख सहने की शक्ति प्रदान करें।

सभी को हिम्मत प्रदान करते थे सुशील मोदीः विजय कुमार सिन्हा

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी के निधन पर बिहार के डिप्टी सीएम विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि बड़ा दु:खद समाचार सुशील मोदी के बारे में मुझे मिला कि वह हमारे बीच नहीं रहें। वह पार्टी में सभी को हिम्मत प्रदान करते थे और मार्गदर्शन देते थे। आज उनकी कमी खल रही है उनकी भरपाई निकट भविष्य में कही नहीं दिख रहा है। ईश्वर इनकी आत्मा को शांति दें और इनके परिवार को इस दु:ख को सहने की क्षमता दें।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं पार्टी के वरिष्ठ नेता, सुशील कुमार मोदी के निधन से मुझे गहरा दुख हुआ है। उनका लम्बा सार्वजनिक जीवन जनता-जनार्दन की सेवा और गरीब कल्याण के प्रति समर्पित था। उन्होंने बिहार में पार्टी को मजबूत और लोकप्रिय बनाने के लिए काफी परिश्रम किया।

बिहार के विकास के लिए किए गए उनके कार्य हमेशा याद रखे जाएंगे। ईश्वर उनके शोक संतप्त परिवार को दुःख की इस घड़ी में धैर्य और संबल प्रदान करे। 

CM योगी ने दी श्रद्धांजलि

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने शोक संदेश लिखा, ‘बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री, भाजपा परिवार के वरिष्ठ सदस्य श्री सुशील कुमार मोदी जी का निधन अत्यंत दुःखद है। मेरी ओर से उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि! उन्होंने देश और समाज की जीवनपर्यंत सेवा की। उनका संघर्ष कार्यकर्ताओं के लिए हमेशा प्रेरणा का कार्य करेगा। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान और शोकाकुल परिजनों को यह अथाह दुःख सहने की शक्ति दें। ॐ शांति!’।

E-Magazine