वांग यी ने एससीओ के सदस्य देशों की विदेश मंत्री परिषद की बैठक में भाग लिया

बीजिंग, 22 मई (आईएएनएस)। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने अस्ताना में शांगहाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों की परिषद की बैठक में भाग लिया।

इस मौके पर वांग यी ने कहा कि 23 वर्षों के संयुक्त प्रयासों के बाद, हमने सफलतापूर्वक एससीओ को अपने क्षेत्र में एक सुरक्षा बाधा, सहयोग का पुल, दोस्ती का बंधन और रचनात्मक शक्ति बनाया है। वर्तमान में, परिवर्तन की स्थिति में तेजी आ रही है और अंतर्राष्ट्रीय स्थिति अशांत परिवर्तनों से गुजर रही है। कुछ देश आधिपत्य का पीछा करते हैं, अनकहे नियम बनाते हैं, हस्तक्षेप करते हैं और दबाते हैं, और संबंधों को तोड़ते हैं।

उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य “ग्लोबल साउथ” की रणनीतिक स्वतंत्रता को दबाने और उभरते बाजारों और विकासशील देशों के पुनरुद्धार के मार्ग को अवरुद्ध करने का प्रयास करना है। ऐसी स्थिति में हमें “शांगहाई भावना” का पालन करना चाहिए, सही दिशा का पालन करना चाहिए, और अधिक प्रभावी ढंग से आम हितों की रक्षा करनी चाहिए। साथ ही विभिन्न चुनौतियों का मुकाबला करना चाहिए और एससीओ को और मजबूत करके निष्पक्षता और न्याय की रक्षा करनी चाहिए।

साथ ही वांग यी ने चार सुझाव पेश किए। पहला, रणनीतिक स्वतंत्रता का पालन करना और एकता व सहयोग बनाए रखना। दूसरा, सुरक्षा और खतरे को साझा करने पर जोर देना और सहयोग के स्तर में सुधार करना। तीसरा, समावेशी समान-जीत परिणामों का पालन करना और सहकारी विकास को सशक्त बनाना। चौथा, खुलेपन और समावेशिता का पालन करना और आदान-प्रदान और आपसी सीख को गहरा करना।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

–आईएएनएस

E-Magazine