विराट कोहली ने अपना सबसे अच्छा प्रदर्शन फ़ाइनल के लिए बचाकर रखा है : रोहित शर्मा

गुयाना, 28 जून (आईएएनएस)। टी20 वर्ल्ड कप 2024 के सेमीफ़ाइनल में इंग्लैंड को 68 रनों से हराने के बाद भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने विराट कोहली के बारे में कहा है कि वह (कोहली) अपने सबसे अच्छे प्रदर्शन को फ़ाइनल के लिए बचाकर रख रहे हैं।

सेमीफ़ाइनल से पहले सभी भारतीय फ़ैंस को उम्मीद थी कि विराट के बल्ले से रन निकलेंगे लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। इस विश्व कप में कोहली का प्रदर्शन काफ़ी साधारण रहा है। इस टूर्नामेंट में अभी तक उनका सर्वाधिक स्कोर सिर्फ़ 37 का रहा है।

सेमीफ़ाइनल मैच के बाद जब रोहित से विराट के प्रदर्शन के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, “हम सब उनकी क्लास के बार में जानते हैं। 15 साल खेलने के बाद फ़ॉर्म कभी समस्या नहीं होती। शायद फ़ाइनल के लिए वह अपने सबसे अच्छे प्रदर्शन को बचाकर रख रहे हैं। हम एक टीम के रूप में शांत रहने का प्रयास कर रहे हैं। फ़ाइनल एक बड़ा अवसर है, लेकिन ख़ुद को शांत रखने से अच्छे फै़सले लेने में मदद मिलती है। मुझे लगा कि आज हम एकदम स्थिर थे और घबराए नहीं। यही सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण रहा है। (क्या वे 2013 के बाद पहली बार कोई आईसीसी ट्रॉफी जीत सकते हैं?) हम अपनी पूरी कोशिश करेंगे, टीम अच्छी स्थिति में है। मैं बस इतना उम्मीद कर सकता हूं कि हम फाइनल में अच्छा प्रदर्शन करें।”

इस सेमीफ़ाइनल से पहले 2022 टी20 विश्व कप के सेमीफ़ाइनल की खू़ब चर्चा हो रही थी, जहां भारत को इंग्लैंड के हाथों 10 विकेट की करारी शिक़स्त झेलनी पड़ी थी। पहली पारी में जब भारत ने सिर्फ़ 171 रन बनाए तो ऐसा लगा कि इंग्लैंड का बल्लेबाज़ी क्रम मुश्किल परिस्थितियों में भी भारतीय गेंदबाज़ों को एक अच्छी चुनौती देंगे। हालांकि ऐसा कुछ नहीं हुआ और इंग्लैंड की पूरी टीम सिर्फ़ 103 के स्कोर पर ऑलआउट हो गई।

रोहित ने टीम के इस प्रदर्शन के बारे में कहा, “एक टीम के रूप में हमने बहुत मेहनत की और सभी का शानदार प्रदर्शन रहा। हमने परिस्थितियों के अनुसार खुद को ढाल लिया और यही आज की सबसे बड़ी चुनौती थी। अगर गेंदबाज़ और बल्लेबाज़ खु़द को परिस्थितियों के अनुसार ढाल लें तो चीजे़ं आसान हो जाती हैं। एक समय पर हमें ऐसा लगा रहा था कि इस पिच पर 140-150 का स्कोर भी सम्मानजनक स्कोर होगा। हालांकि हम बीच के ओवरों में रन बनाने में सफल रहे। मैं और सूर्यकुमार रन लगातार रन बनाने का प्रयास कर रहे थे और सोच रहे थे कि शायद हम 20-25 रन और बना सकते हैं। मैं बस यही चाह रहा था कि हमारे बल्लेबाज़ अपनी स्वाभाविक प्रवृत्ति के हिसाब से खेलें। 175 का स्कोर इस पिच पर काफ़ी अच्छा स्कोर होता।”

यह लगातार तीसरा आईसीसी टूर्नामेंट है, जहां भारत ने फ़ाइनल में जगह बनाई है। मौजूदा विश्व कप में भारत अब तक शानदार लय में रहा है। अब तक उन्होंने एक भी मैच नहीं हारा और अपने इस लय को आगे बढ़ाते हुए सेमीफ़ाइनल में भी इंग्लैंड को भारतीय टीम ने कोई मौक़ा नहीं दिया। इसमें कुलदीप यादव और अक्षर पटेल ने भी एक अहम भूमिका निभाई। दोनों गेंदबाज़ों ने 3-3 विकेट निकाले और इंग्लैंड को वापसी करने का कोई मौक़ा नहीं दिया।

रोहित ने कहा, “हमारे गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन किया। अक्षर और कुलदीप कमाल के स्पिनर हैं। इन परिस्थितियों में उनके ख़िलाफ़ रन बनाना मुश्किल है। वे दबाव में भी शांत रह कर अपना काम कर रहे थे। पहली पारी के बाद हमने बातचीत की। उस दौरान हमने यही संदेश दिया कि लगातार विकेट की लाइन में ही गेंदबाज़ी करनी है।”

–आईएएनएस

आरआर/

E-Magazine