नेपाल के साथ व्यापारिक संबंध बढ़ाएंगे यूपी के कारोबारी

लखनऊ में इंडो नेपाल इकोनॉमिक सहयोग को लेकर बैठक हुई जिसमें यूपी व नेपाल के बीच व्यापारिक संबंध बढ़ाने को लेकर चर्चा हुई।

नेपाल के साथ यूपी के पुराने संबंध हैं। ये रिश्ते आर्थिक व धार्मिक दोनों ही हैं। इन्हें और मजबूत बनाने के लिए नई दिल्ली स्थित नेपाल दूतावास ने बुधवार को लखनऊ में एक कार्यक्रम का आयोजन किया। इसका मकसद इंडो नेपाल आर्थिक सहयोग की नई संभावनाओं को तलाशना था।

कार्यक्रम में भारत में नेपाल के राजदूत डॉ. शंकर प्रसाद शर्मा ने कहा कि भारत और नेपाल के बीच हुए कई समझौतों से आपस के संबंध बहुत मजबूत हुए हैं।

पर्यटन व्यवसाय, अन्य ट्रेड व्यापार में दोनों देश के बीच व्यापार करने की असीम संभावनाएं है। मंत्री तारा नाथ अधिकारी ने नेपाल में इन्वेस्टमेंट, ट्रेड और टूरिज्म की संभावनाओं पर अपने देश का एक महत्वपूर्ण प्रस्तुतिकरण दिया। उन्होंने उद्यमियों और चैंबर के प्रतिनिधियों को 28 और 29 अप्रैल 2024 में होने वाले नेपाल इन्वेस्टमेंट समिट में आने का निमंत्रण दिया।

एसोसिएटेड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के अध्यक्ष इंजीनियर डीपी सिंह ने कहा कि नेपाल का पड़ोसी राज्य होने की वजह से यूपी पर्यटन व्यवसाय, व्यापारिक ट्रेड, कृषि संबंधित व्यवसाय, सिंचाई प्रोजेक्ट्स, सौर ऊर्जा प्रोजेक्ट्स, शिक्षा और एक्सचेंज प्रोग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। कार्यक्रम को पर्यटन उद्योग, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, बैंकर्स और इन्वेस्टर्स प्रतिष्ठानों के प्रतिनिधियों ने भी संबोधित किया।

E-Magazine