काशी से शिरडी और जम्मू की यात्रा होगी आसान, शुरू होगी विमान सेवा

हवाई मार्ग के जरिये धार्मिक शहरों से काशी जुड़ रही है। इंदौर-वाराणसी के बीच इंडिगो की विमान सेवा शुरू हो गई है। जबकि वाराणसी-पंतगनगर के लिए भी उड़ान सेवा जारी है। अब बहुत जल्द शिरडी और जम्मू के लिए भी विमान सेवा शुरू होने वाली है। विमान कंपनियों की ओर से रूट का सर्वे कराया जा रहा है।

उत्तराखंड के पंतनगर और मध्य प्रदेश के इंदौर के लिए विमान सेवा शुरू होने से इन रूटों पर यात्रियों की आवाजाही भी ठीक-ठाक है। शिरडी और जम्मू के बीच उड़ानें शुरू होने से तीर्थ यात्रियों को बड़ी राहत और सहूलियत होगी। 

एयरपोर्ट अधिकारियों के अनुसार वाराणसी-इंदौर के बीच इंडिगो की सीधी विमान सेवा से उज्जैन और इंदौर से काशी आवाजाही करने वाले तीर्थ यात्रियों को राहत मिली है। किराया पांच से छह हजार रुपये है। वहीं, उत्तराखंड के पंतनगर-काशी के बीच एलायंस एयर की विमान सेवा शुरू है। हफ्ते में तीन दिन मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को सीधी सेवा है। किराया भी महज पांच से छह हजार रुपये है। अधिकारियों के अनुसार पंतनगर में गर्जिया देवी की प्राचीन मंदिर है।

टूर ऑपरेटर अभिषेक सिंह ने बताया कि काशी से लगभग सभी धार्मिक स्थलों के लिए विमान सेवाएं हैं। हैदराबाद, बंगलूरू, चेन्नई और भुवनेश्वर के लिए सीधी विमान सेवाएं हैं। इन सभी शहरों से तीर्थ यात्रियों की अच्छी संख्या में आवाजाही है। बहुत जल्द शिरडी और जम्मू की विमान सेवा शुरू होगी। विमानन कंपनियों ने पिछले दिनों शिरडी और जम्मू के बीच हवाई सर्वे आदि प्रक्रिया को पूरा कर लिया है। शेड्यूल और किराया जल्द ही स्पष्ट होगा।

कोरोना के समय से बंद है थाईलैंड, श्रीलंका और मलयेशिया की विमान सेवा
टूर ऑपरेटरों के अनुसार कोरोना के समय से श्रीलंका, थाईलैंड और मलयेशिया की विमान सेवा बंद है। जबकि इन देशों से पर्यटकों की आवाजाही भी शुरू हो गई है। मुंबई और दिल्ली के रास्ते वाराणसी आवाजाही कर रहे हैं। ऐसे में यह सेवा शुरू हो जाए तो फिर विदेशी पर्यटकों की संख्या काशी में और बढ़ जाए। टूर ऑपरेटर अभिषेक सिंह ने बताया कि बाबतपुर एयरपोर्ट से थाईलैंड और श्रीलंका के लिए दो-दो और मलयेशिया के लिए एक विमान सेवा संचालित थी।

E-Magazine