दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों पर इन उम्मीदवारों के बीच है मुकाबला

नई दिल्‍ली, 14 अप्रैल (आईएएनएस)। दिल्ली की सभी सातों सीटों पर भाजपा व आप-कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवार तय हो चुके हैं। भाजपा ने दिल्ली में छह नए चेहरों पर दाव लगाया है। वहीं कांग्रेस तीन में से दो सीटों पर अपने पुराने चेहरों के सहारे मैदान में है। आम आदमी पार्टी अपने मौजूदा विधायकों पर ज्यादा भरोसा कर रही है।

दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का गठबंधन है। यही कारण है कि यहां चार सीटों पर भाजपा का मुकाबला आम आदमी पार्टी से और तीन सीटों पर कांग्रेस से है। उत्तर-पश्चिम संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस के उदित राज की टक्कर भाजपा के उम्मीदवार योगेंद्र चंदोलिया से हैं। योगेंद्र चंदोलिया दिल्ली में मेयर रह चुके हैं।

दक्षिणी दिल्ली लोकसभा सीट पर भाजपा ने रामवीर सिंह बिधूड़ी उम्मीदवार हैं। आम आदमी पार्टी की ओर से पहलवान सहीराम यहां उम्मीदवार हैं। वह आम आदमी पार्टी के मौजूदा विधायक हैं। भारतीय जनता पार्टी ने चांदनी चौक से प्रवीण खंडेलवाल को अपना उम्मीदवार बनाया है। उनके सामने यहां कांग्रेस से जयप्रकाश अग्रवाल हैं। भाजपा ने उत्तर पूर्वी दिल्ली से मनोज तिवारी को अपना उम्मीदवार बनाया है। गठबंधन में ये सीटें कांग्रेस के खाते में गई हैं। रविवार रात कांग्रेस ने यहां से कन्हैया कुमार को अपना उम्मीदवार बनाने की घोषणा की है।

नई दिल्ली लोकसभा सीट पर भाजपा प्रत्याशी बांसुरी स्वराज और आम आदमी पार्टी के सोमनाथ भारती के बीच मुकाबला होगा। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज प्रसिद्ध वकील हैं। सोमनाथ भारती आम आदमी पार्टी के विधायक हैं व पेशे से वकील भी रहे हैं।

पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट की बात की जाए तो यहां हर्ष मल्होत्रा भाजपा के उम्मीदवार हैं। हर्ष मल्होत्रा भी मेयर रह रह चुके हैं। इसके साथ ही वह एजुकेशन कमेटी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। आम आदमी पार्टी की ओर से यहां अपने विधायक कुलदीप कुमार को टिकट दिया गया है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर पिछली बार भाजपा के टिकट पर पूर्वी दिल्ली से सांसद चुने गए थे। हालांकि इस बार गौतम गंभीर ने चुनाव न लड़ने की इच्छा जताई थी।

पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट की बात करें तो यहां से भाजपा की कमलजीत सेहरावत और आम आदमी पार्टी से महाबल मिश्रा मैदान में हैं। कमलजीत सेहरावत भी पूर्व में मेयर रह चुकी हैं। वहीं महाबल मिश्रा वर्ष 2019 में भी इस सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। तब वह कांग्रेस के उम्मीदवार थे और 5 लाख से अधिक वोटो के अंतर से चुनाव हारे थे।

गौरतलब है कि भाजपा ने इस बार दिल्ली में छह नए चेहरे चुनाव में उतारे हैं। इनमें चांदनी चौक से व्यापारी नेता प्रवीण खंडेलवाल, नई दिल्ली से बांसुरी स्वराज, पश्चिमी दिल्ली से पूर्व मेयर कमलजीत सेहरावत, दक्षिणी दिल्ली से रामवीर सिंह बिधूड़ी, उत्तर पश्चिमी दिल्ली से योगेंद्र चंदोलिया व पूर्वी दिल्ली से हर्ष मल्होत्रा हैं। उत्तर-पूर्वी दिल्ली से पार्टी ने एक बार फिर मनोज तिवारी पर भरोसा जताया है।

–आईएएनएस

जीसीबी/एसजीके

E-Magazine