मुरादाबाद: यूपी में कई ट्रेनों का रूट बदला, 26 तक रास्ते में रुकेंगी 22 ट्रेनें

मुरादाबाद से बरेली के बीच लूप लाइन का काम 22 जून से शुरू हो रहा है। इसके चलते कई ट्रेनों का रूट बदला गया है। अधिकारियों के मुताबिक नई लूप लाइन बनने से मालगाड़ियों के कारण यात्री ट्रेनें लेट नहीं होंगी।

रेलवे ने मुरादाबाद-बरेली के बीच दुगनपुर में लूप लाइन विस्तार के लिए ब्लॉक लिया है। 22 जून से नॉन इंटरलॉकिग और रेल यात्रियों की दुश्वारियां शुरू हो रही हैं। मुरादाबाद से गुजरने वाली (15909-10) अवध-असम एक्सप्रेस, (12369) कुंभ एक्सप्रेस, (12204) अमृतसर-सहरसा गरीबरथ एक्सप्रेस को रामपुर के बदले चंदौसी होकर चलाया जाएगा।

22 जून से 26 जून तक यह व्यवस्था लागू रहेगी। इसके अलावा अलग अलग तारीख में नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस, (15211-12) जननायक एक्सप्रेस, (12204-03) अमृतसर-सहरसा गरीबरथ एक्सप्रेस, (13257-58) जनसाधारण एक्सप्रेस, दिल्ली-दरभंगा, आनंदविहार-अयोध्या कैंट, श्री माता वैष्णो देवी कटरा-गुवाहटी स्पेशल एक्सप्रेस देरी से चलेंगी।

इसके अलावा (15127-28) काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस, कोलकाता-नंगडैम एक्सप्रेस, नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस को रास्ते में कुछ देर रोककर चलाया जाएगा। 22 जून से होने वाले इस कार्य का असर शुक्रवार को भी दिखाई दिया।

मुरादाबाद-लखनऊ के बीच कई ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ। (22545) लखनऊ-देहरादून वंदे भारत को दो घंटे देरी से चलाया गया। बरेली से चलने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस, आला हजरत एक्सप्रेस दो घंटे देरी से मुरादाबाद पहुंचीं।

लूप लाइन बनने से मालगाड़ियों के कारण लेट नहीं होंगी ट्रेनें
रामपुर-बरेली के बीच दुगनपुर में नई लूप लाइन बनने से मालगाड़ियों के कारण यात्री ट्रेनें लेट नहीं होंगी। लूप लाइन पर किसी भी मालगाड़ी को खड़ा करके मेन लाइन से यात्री ट्रेन को गुजारा जा सकेगा। रेल प्रशासन का कहना है कि इससे पहले मुरादाबाद-लखनऊ के बीच दो और स्टेशनों पर यह कार्य किया जा चुका है। नॉन इंटरलॉकिंग के कारण यात्रियों को पांच दिन परेशानी जरूर उठानी पड़ेगी।

पेड़ गिरने से टूटा ओएचई, मुरादाबाद-देहरादून रेल रूट प्रभावित
रेलवे की ओवर हेड इलेक्ट्रिसिटी वायर पर पेड़ गिरने के कारण तार टूट गया। शुक्रवार शाम को इसके कारण मुरादाबाद-देहरादून रेल रूट प्रभावित रहा। देहरादून से मुरादाबाद होकर लखनऊ जाने वाली (22546) वंदे भारत एक्सप्रेस पहले ही देहरादून से दो घंटे देरी से चली थी।

ओएचई टूटने के कारण इसे दो घंटे डोईवाला में खड़े रहना पड़ा। हरिद्वार स्टेशन पर तमाम यात्रियों को मुरादाबाद आने के लिए इंतजार करना पड़ा। यही स्थिति देहरादून से मुरादाबाद के रास्ते काठगोदाम जाने वाली (12091) देहरादून-काठगोदाम एक्सप्रेस की रही।

यात्रियों ने एक्स पर डीआरएम को टैग कर अपनी समस्या से अवगत कराया। डीआरएम का एक्स हैंडल संचालित करने वाली टीम ने जवाब लिखा कि देहरादून-हरिद्वार के बीच ओएचई पर पेड़ गिरने के कारण ट्रेनों को रास्ते में रोका गया है।

ओएचई दुरुस्त करने के बाद शाम 7:30 बजे के बाद ट्रेनें डोईवाला से आगे बढ़ीं। शाम 5:40 बजे मुरादाबाद पहुंचने वाली वंदे भारत मुरादाबाद स्टेशन पर रात 9 बजे के बाद पहुंची।

E-Magazine