रोहित की 92 रन की तूफानी पारी, भारत ने बनाये 205/5

ग्रॉस आइलेट, 24 जून (आईएएनएस)। कप्तान रोहित शर्मा की 41 गेंदों पर सात चौकों और आठ छक्कों की मदद से सजी 92 रन की तूफानी पारी की बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 विश्व कप के सुपर आठ के ग्रुप एक मुकाबले में सोमवार को पांच विकेट पर 205 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।

रोहित ने कप्तानी की जिम्मेदारी के साथ खेलते हुए रिकार्डों से भरपूर पारी खेली और भारत को विराट कोहली के शून्य पर आउट होने के झटके से उबारा। रोहित ने मिचेल स्टार्क के पारी के तीसरे ओवर में चार छक्के और एक चौका लगाकर 29 रन बटोरे।

भारतीय कप्तान पुरुष टी20 में पावरप्ले में ही पांच छक्के लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज़ बन गए। इसके अलावा रोहित ने टी20 अंतर्राष्ट्रीय में अपने 200 छक्के भी पूरे कर लिए हैं और इस आंकड़े तक पहुंचने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज़ भी बन गए हैं।

रोहित शर्मा ने मिचेल स्टार्क के ओवर में कुल 29 रन बटोरे और यह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में स्टार्क द्वारा फेंका गया सबसे महंगा ओवर हो गया है। इससे पहले 2021 टी20 विश्व कप फ़ाइनल में उनके एक ओवर में 22 रन बने थे।

भारतीय कप्तान ने मात्र 19 गेंदों में लगायाअपना अर्धशतक। रोहित शर्मा का इस विश्‍व कप का सबसे तेज अर्धशतक है, साथ ही टी20 विश्‍व में यह भारत की ओर से लगाया गया युवराज सिंह (12), केएल राहुल (18) के बाद तीसरा सबसे तेज अर्धशतक है। साथ ही यह टी20 करियर में रोहित का भी सबसे तेज अर्धशतक है।

रोहित शर्मा टी20 विश्‍व कप की एक पारी में सबसे अधिक छक्‍के लगाने के रिकॉर्ड को अपने नाम कर लिया है। इन्‍होंने 8 छक्‍के लगाकर युवराज को पछाड़ा है।

भारत ने 8.4 ओवर में अपने 100 रन पूरे किए, जो टी20 विश्व कप में उनका सबसे तेज़ 100 रन है। इससे पहले 2007 में उन्होंने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 10.2 ओवरों में अपने 100 रन पूरे किए थे।

रोहित जब अपने शतक से आठ रन दूर थे तो स्टार्क ने पारी के 12वें ओवर में वापसी करते हुए रोहित को बोल्ड कर दिया। रोहित ने 41 गेंदों की पारी में सात चौके और आठ छक्के लगाए। उन्हें बाकी बल्लेबाजों का भी उपयोगी सहयोग मिला।

सूर्यकुमार यादव ने 16 गेंदों पर तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 31, शिवम् दुबे ने 22 गेंदों में 28 रन, हार्दिक पांड्या ने 17 गेंदों में नाबाद 27, ऋषभ पंत ने 15 और रवींद्र जडेजा ने एक छक्के के सहारे नाबाद नौ रन बनाये।

ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज़ों ने आखिरी 10 ओवरों में कुछ हद तक वापसी की। आठ विकेट बचे होने के बाद भी भारत अंतिम 10 ओवरों में 91 रन ही बना सका, जबकि पहले 10 ओवरों में उन्होंने 114 रन बनाए थे। रोहित शर्मा ने एक पारी में अनेकों रिकॉर्ड बना दिए और दिखाया कि अपने दिन पर कैसे वह अकेले मैच का रुख़ पलट सकते हैं।

–आईएएनएस

आरआर/

E-Magazine