बिहार टॉपर्स घोटाले के मास्टरमाइंड के परिसर में छापेमारी, 3 करोड़ नकद जब्त

नई दिल्ली, 10 दिसंबर (आईएएनएस)। बिहार में 2016 के टॉपर्स घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुख्य आरोपी बच्चा राय उर्फ अमित कुमार से 3 करोड़ रुपये से अधिक नकद और 80 से अधिक संपत्ति के दस्तावेज जब्त किए हैं।

ईडी की टीम राय के परिसरों में नए निर्माण कार्य की रिपोर्ट के बाद कार्रवाई में आई, जिसे पहले एजेंसी ने घोटाले की जांच के सिलसिले में कुर्क किया था।

ईडी के एक सूत्र ने कहा, शनिवार को तलाशी के दौरान टीम ने नकदी और संपत्ति के दस्तावेज जब्त किए। सूत्र ने बताया कि ईडी दस्तावेजों का विश्लेषण कर रही है।

सूत्र ने यह भी बताया कि एजेंसी को राय के बीएड कॉलेज में अनियमितताओं से जुड़े कई सबूत भी मिले हैं। साथ ही इसमें सरकारी राशि के गबन के सबूत मिले हैं।

ईडी ने बिहार के वैशाली भगवानपुर इलाके में कई ठिकानों पर तलाशी थी।

मार्च 2018 में ईडी ने बिहार टॉपर घोटाले के मुख्य आरोपियों की 4.53 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की थी, जिसमें 29 प्लॉट और दस बैंक खातों में जमा राशि शामिल थी, जिसने 2016 में राज्य को हिलाकर रख दिया था।

वैशाली जिले के विशुन रॉय कॉलेज के सचिव-सह-प्रिंसिपल के खिलाफ धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत कार्रवाई की गई।

यह घोटाला 31 मई 2016 को सामने आया जब बिहार स्कूल शिक्षा बोर्ड (बीएसईबी) कला और मानविकी की टॉपर रूबी राय, विज्ञान के टॉपर सौरभ श्रेष्ठ और विज्ञान स्ट्रीम में तीसरे टॉपर राहुल कुमार का समाचार टीवी चैनलों द्वारा साक्षात्कार लिया गया और वे बुनियादी सवालों का जवाब देने में असमर्थ रहे। एक जांच शुरू की गई जिसके बाद ईडी ने 2017 में बिहार पुलिस द्वारा दर्ज एक एफआईआर के आधार पर मामला दर्ज किया।

–आईएएनएस

एमकेएस/एसकेपी