पोंटिंग ने भारतीय टीम के कोच पद की भूमिका से किया इनकार

नई दिल्ली, 23 मई (आईएएनएस)। ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर रिकी पोंटिंग ने खुलासा किया है कि उनसे भारत के अगले पुरुष मुख्य कोच पद के लिए संपर्क किया गया था लेकिन उन्होंने अपने परिवार के साथ ज्यादा समय बिताने के लिए इससे इनकार कर दिया।

पोंटिंग आईपीएल 2024 में दिल्ली कैपिटल्स के मुख्य कोच रहे थे जो अंक तालिका में छठे स्थान पर रही। वह बिग बैश लीग में भी होबार्ट हरिकेन्स के रणनीति प्रमुख रहे।

वह ऑस्ट्रेलिया की घरेलू गर्मियों में कमेंट्री बॉक्स में भी नियमित रहे हैं और अमेरिका में मेजर लीग क्रिकेट सत्र में भी वाशिंगटन फ्रीडम के मुख्य कोच रहेंगे।

पोंटिंग ने कहा, “मैंने इसके बारे में बहुत सारी रिपोर्ट देखी हैं। आम तौर पर ये चीजें सोशल मीडिया पर आपके बारे में जानने से पहले ही सामने आ जाती हैं, लेकिन आईपीएल के दौरान कुछ छोटी-मोटी आमने-सामने की बातचीत हुई, सिर्फ ये जानने के लिए कि क्या मैं इसके लिए तैयार हूं।”

“मैं एक राष्ट्रीय टीम का कोच बनना पसंद करूंगा, लेकिन मेरे जीवन में अन्य चीजें हैं और मैं घर पर थोड़ा समय बिताना चाहता हूं… हर कोई जानता है कि यदि आप भारतीय टीम के साथ काम करते हैं तो आपको किसी आईपीएल टीम में शामिल नहीं किया जा सकता।”

पोंटिंग ने आईसीसी से कहा, “इसके अलावा, एक राष्ट्रीय मुख्य कोच साल के 10 या 11 महीने का काम है, और जितना मैं इसे करना चाहता हूं, यह फिलहाल मेरी जीवनशैली में फिट नहीं बैठता।”

13 मई को, बीसीसीआई ने कहा था कि वह आवेदन आमंत्रित कर रहा है कि राहुल द्रविड़ की जगह कौन लेगा, जिसकी समय सीमा 27 मई है। भारत का अगले मुख्य कोच की नियुक्ति 1 जुलाई, 2024 से 31 दिसंबर, 2027 की अवधि के लिए की जाएगी।

उन्होंने शीर्ष पद के लिए अन्य संभावित उम्मीदवारों के नामों पर भी गौर किया, हालांकि जस्टिन लैंगर ने खुद को दौड़ से बाहर कर लिया जब उनकी टीम लखनऊ सुपर जायंट्स का अभियान आईपीएल 2024 में समाप्त हो गया।

पोंटिंग ने कहा, “मैंने कुछ अन्य नामों की चर्चा सुनी है। जस्टिन लैंगर का नाम उछाला गया था, स्टीफन फ्लेमिंग का नाम भी था। पिछले कुछ दिनों में गौतम गंभीर का नाम भी थोड़ा उछाला गया, लेकिन मुझे लगता है कि मैंने अपने कारण स्पष्ट कर दिए हैं।”

पोंटिंग ने आगे कहा कि उनके बेटे फ्लेचर ने भारत के पुरुष टीम के मुख्य कोच का पद संभालने की संभावना पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी। “मेरे परिवार और मेरे बच्चों ने पिछले पांच हफ्ते मेरे साथ आईपीएल में बिताए हैं और वे हर साल आते हैं और मैंने अपने बेटे से इस बारे में बात की और उसने कहा, ‘पिताजी को भारतीय कोचिंग की नौकरी की पेशकश की गई है’ और उन्होंने कहा, ‘बस ले लीजिये पापा, हम अगले कुछ वर्षों के लिए वहां जाना पसंद करेंगे।’

उन्होंने कहा, “उन्हें यहां रहना और भारत में क्रिकेट की संस्कृति बहुत पसंद है, लेकिन अभी यह शायद मेरी जीवनशैली में बिल्कुल फिट नहीं बैठता।”

इस बीच, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के मुख्य कोच एंडी फ्लावर ने कहा कि वह फ्रेंचाइजी लीग प्रतिबद्धताओं के कारण भारत के पुरुष मुख्य कोच पद के लिए आवेदन नहीं करेंगे। “मैंने आवेदन नहीं किया है और नहीं करूंगा।”

आरसीबी के अहमदाबाद में एलिमिनेटर में राजस्थान रॉयल्स से चार विकेट से हारने के बाद उन्होंने कहा, “मैं इस समय फ्रेंचाइजी लीग में अपनी भागीदारी से खुश हूं। मैं वास्तव में इसका आनंद ले रहा हूं। यह दिलचस्प चीज है और मैंने कुछ अद्भुत संगठनों के साथ काम किया है और मैं इस समय इससे खुश हूं।”

–आईएएनएस

आरआर/एसकेपी

E-Magazine