पीएम मोदी को मुसलमानों के चार प्रतिशत आरक्षण से परेशानी : सपा सांसद एसटी हसन

मुरादाबाद, 23 मई (आईएएनएस)। केंद्र में अगर इंडिया गठबंधन की सरकार आती है तो दलित और ओबीसी का आरक्षण छीनकर मुसलमानों को दे दिया जाएगा। पीएम मोदी के इस बयान पर सपा सांसद एसटी हसन की प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा कि न दलितों का और न ही ओबीसी का आरक्षण किसी और को दिया जाएगा।

सांसद एसटी हसन ने कहा कि कोई किसी का आरक्षण नहीं छीन रहा है। पीएम मोदी को मुसलमानों के चार परसेंट आरक्षण पर बहुत परेशानी है। जबकि, सच्चर कमेटी की रिपोर्ट से यह साफ हो चुका है कि मुसलमानों की स्थिति दलितों से भी बदत्तर है। आरक्षण इसलिए दिया जाता है ताकि जो दबे-कुचले लोग हैं, उनको ऊपर लाया जाए, उनकी हालत बेहतर की जाए।

उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि मुसलमानों के आरक्षण से पीएम मोदी को परेशानी क्यों है? क्या मुसलमान इस देश का नागरिक नहीं है? इस देश में क्या मुसलमान का कोई योगदान नहीं है? क्या मुसलमानों ने देश की आजादी में हिंदू भाईयों के साथ अपना खून नहीं दिया था?

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी घबराए हुए हैं, बौखलाए हुए हैं, अब तक चुनाव के जितने चरण हुए हैं, उन सभी में वह हार रहे हैं, इसलिए, चुनाव को हिंदू-मुस्लिम करना चाहते हैं, लेकिन, हिंदू भाई उनके झांसे में नहीं आने वाले हैं। चार प्रतिशत आरक्षण से सिर्फ मोदी जी को परेशानी है, किसी हिंदू भाई को कोई परेशानी नहीं है।

उन्होंने आगे कहा कि एक प्रधानमंत्री को इस तरह का बयान शोभा नहीं देता, जो किसी सोसाइटी को बांटे। इन्होंने नफरतों की सौदागिरी करने सिंहासन हासिल किया है। ये कितनी भी कोशिश कर लें, लेकिन, हिंदू और मुसलमान को अलग नहीं किया जा सकता है।

–आईएएनएस

पीएसके/एबीएम

E-Magazine