जनता नहीं अब अपराधी कर रहे पश्चिमी उत्तर प्रदेश से पलायन : सीएम योगी

[ad_1]

मुजफ्फरनगर/शामली/सहारनपुर, 28 मार्च (आईएएनएस)। भाजपा के स्टार प्रचारक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पश्चिमी यूपी में धुआंधार प्रचार अभियान गुरुवार को दूसरे दिन भी जारी रहा। उन्होंने मुजफ्फरनगर में संजीव बालियान, शामली में प्रदीप चौधरी और सहारनपुर में राघव लखन पाल के लिए प्रचार की कमान संभालते हुए प्रबुद्धजनों से संवाद किया। इस दौरान उन्होंने उन्होंने एक-एक वोट की ताकत को समझाते हुए उसे सही जगह खर्च करने की अपील की और कहा कि पश्चिमी यूपी से अब जनता नहीं, अपराधी पलायन कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री व भाजपा उम्मीदवार संजीव बालियान के पक्ष में प्रबुद्धजनों से संवाद किया। उन्होंने कहा कि गलत वोट से पश्चिमी उप्र को अराजकता की भट्टी में झोंककर यहां की सुरक्षा को खतरे में डाला जाता था। लोग यहां आने से डरते थे। आपका वोट सही पार्टी के साथ गया तो अराजकता समाप्त हुई और आस्था को सम्मान मिला। पिछली सरकार ने कर्फ्यू-अराजकता दी, लेकिन आज हम नए माहौल में बढ़ रहे हैं। मोदी जी को तीसरी बार सत्ता में लाने के लिए प्रबुद्धजन को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी।

वहीं, शामली के स्कॉटिश इंटरनेशनल स्कूल में उन्होंने भाजपा-लोकदल के संयुक्त प्रत्याशी प्रदीप चौधरी के पक्ष में मतदान की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पौराणिक एवं ऐतिहासिक धरा ने इतिहास में अनेक उतार-चढ़ाव देखे हैं। भारत के पासपोर्ट की 10 साल पहले दुनिया में कोई कीमत नहीं थी, मगर आज आप दुनिया में कहीं भी जाएंगे तो वहां आपको सम्मान मिलेगा।

सराहनपुर में मुख्यमंत्री ने राघव लखन पाल के पक्ष में मतदान के लिए प्रबुद्धजनों से संवाद किया। उन्होंने कहा कि सही दिशा में पड़ा आपका एक वोट कश्मीर में धारा 370 समाप्त कर देता है, उग्रवाद और आतंकवाद का समाधान कर देता है। इतना ही नहीं रामलला को नव्य, दिव्य और भव्य मंदिर में विराजमान कर देता है। यही तो मोदी की गारंटी है। ऐसे में आप अपने एक वोट की कीमत को पहचानिये। कुछ लोग समाज को जाति के नाम पर बांटने के साथ वोट लेते थे। उनके लिये फैमिली फर्स्ट थी, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए तो 140 करोड़ का भारतवासी ही उनका परिवार है। वह कहते हैं उनके लिये तो नेशन फर्स्ट है। हमारा संकल्प भी नेशन फर्स्ट होना चाहिये। कुछ लोग अपने फायदे के लिए तुष्टीकरण के आधार पर समाज को बांटते थे।

–आईएएनएस

विकेटी/एकेजे

[ad_2]

E-Magazine