नामीबिया चाहता है हरित ऊर्जा के लिए महत्वपूर्ण खनिज आपूर्ति में अग्रणी भूमिका निभाना

विंडहोक (नामीबिया), 23 मई (आईएएनएस)। एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को कहा कि नामीबिया हरित ऊर्जा परिवर्तन के लिए आवश्यक महत्वपूर्ण खनिजों की वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला में खुद को एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी के रूप में स्थापित कर रहा है।

विंडहोक की राजधानी में एक खनिज चर्चा में खनन और ऊर्जा मंत्री टॉम अलवेन्डो ने स्थानीय सामाजिक-आर्थिक विकास और नवीकरणीय ऊर्जा की ओर वैश्विक बदलाव के लिए अपने समृद्ध खनिज संसाधनों का लाभ उठाने के लिए देश की रणनीति की रूपरेखा तैयार की।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों में परिवर्तन और प्रौद्योगिकी में प्रगति के कारण महत्वपूर्ण खनिजों की बढ़ती वैश्विक मांग पर जोर देते हुए अलवेन्डो ने कहा, “नामीबिया कुछ आवश्यक महत्वपूर्ण खनिजों से संपन्न है और इसे कुछ के लिए गिना जाना चाहिए।”

अलवेन्डो ने संसाधन-संपन्न और संसाधन-गरीब देशों के बीच बातचीत और सहयोग का आह्वान करते हुए “महत्वपूर्ण खनिज आपूर्ति श्रृंखलाओं की स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए विश्‍व स्तर पर समन्वित प्रयास” की जरूरत पर जोर दिया।

उन्होंने ऊर्जा परिवर्तन के प्रति नामीबिया के दृष्टिकोण पर प्रकाश डाला और एक उचित प्रक्रिया की वकालत की, जो अफ्रीकी हालात को ध्यान में रखे।

उन्होंने कहा, “अफ्रीका को अपनी समय सारिणी के अलावा किसी अन्य समय सारिणी पर ऊर्जा परिवर्तन के साथ आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना अफ्रीकी प्राथमिकताओं के लिए वैश्विक समुदाय की सराहना की कमी का एक और उदाहरण है।”

अलवेन्डो के अनुसार, नामीबिया का दृष्टिकोण वैश्विक ऊर्जा परिवर्तन के समर्थन में महत्वपूर्ण खनिजों की आपूर्ति श्रृंखला में एक महत्वपूर्ण और विश्‍वसनीय खिलाड़ी बनना है।

नामीबिया का लक्ष्य एक प्रतिस्पर्धी महत्वपूर्ण खनिज क्षेत्र का निर्माण करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय निवेश को आकर्षित करना है जो अन्वेषण और खनन से लेकर प्रसंस्करण और विनिर्माण तक मूल्य श्रृंखला में रोजगार पैदा करता है।

अलवेन्डो ने कहा कि देश ने पिछले दो वर्षों में अपनी वैश्विक पहुंच तेज कर दी है, जिसके सकारात्मक परिणाम मिले हैं।

महत्वपूर्ण खनिजों के अलावा, नामीबिया अपनी हरित हाइड्रोजन रणनीति जैसी पहलों के माध्यम से हरित औद्योगीकरण पर भी ध्यान केंद्रित कर रहा है।

अल्वेन्डो ने कहा, “हमारी हरित हाइड्रोजन रणनीति एक साहसिक पहल है और हम आश्‍वस्त हैं कि यह हरित और आधुनिक वैश्विक अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।”

–आईएएनएस

एसजीके/

E-Magazine