मर्लिन मुनरो के घर को मिली ऐतिहासिक सांस्कृतिक स्मारक के रूप में मंजूरी

लॉस एंजिल्स, 27 जून (आईएएनएस)। लॉस एंजिल्स के ब्रेंटवुड में दिवंगत हॉलीवुड आइकन मर्लिन मुनरो के घर को लॉस एंजिल्स सिटी काउंसिल ने ऐतिहासिक सांस्कृतिक स्मारक के रूप में मंजूरी दे दी है। मंजूरी मिलने के चलते अब इसे तोड़ा नहीं जाएगा।

लॉस एंजिल्स कंजर्वेंसी ने एक्स पोस्ट पर लिखा, “ब्रेंटवुड में मर्लिन मुनरो का घर अब एक ऐतिहासिक सांस्कृतिक स्मारक है! आज, लॉस एंजिल्स सिटी काउंसिल ने मर्लिन मुनरो के घर के लिए नामांकन को सर्वसम्मति से मंजूरी दे दी। समर्थन देने वाले सभी लोगों का धन्यवाद, और काउंसिल वुमन ट्रेसी पार्क और टीम का बहुत-बहुत धन्यवाद!”

मुनरो 1929 में इसी चार बेडरूम वाले घर में तकरीबन 6 महीने रहीं और 1962 में उनकी मृत्यु भी इसी घर में ओवरडोज के चलते हुई।

वैराइटी डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, एलए कंजर्वेंसी के प्रस्ताव में कहा गया है कि यह घर वह पहली जगह थी, जिसे उन्होंने 1962 में सक्रिय रूप से काम करते हुए अपने लिए खरीदा था।

बाद में मालिक ब्रिना मिलस्टीन और उनके पति, रियलिटी टीवी निर्माता रॉय बैंक ने 2023 में 8.35 मिलियन डॉलर में इस घर को खरीदा और बड़ा बनाने के लिए इसे तोड़ने का फैसला किया।

उन्होंने एक साल तक इसे ऐतिहासिक स्मारक बनाने से रोकने की पूरी कोशिश की। उन्होंने मुकदमा दायर करते हुए अधिकारियों पर साजिश रचने का आरोप लगाया। मामले की सुनवाई 13 अगस्त को होनी है।

मुकदमे में, उन्होंने कहा कि घर में काफी बदलाव किया गया है, इसलिए यह ऐतिहासिक सांस्कृतिक स्मारक के मानदंडों को पूरा नहीं करता है। कई और लोग और मोनरो एस्टेट ऐतिहासिक स्मारक का समर्थन नहीं करते।

विरोध के बावजूद, काउंसिल के ऐतिहासिक महत्व की संपत्तियों की लिस्ट में मर्लिन मुनरो के घर को जोड़ने के पक्ष में 12 वोट पड़े। इस फैसले का समर्थन सिटी काउंसिल की लैंड यूज मैनेजमेंट सबकमेटी और कल्चर हेरिटेज कमिश्नर ने किया।

ऐतिहासिक स्मारक बनाए जाने के बाद भी इसे तोड़ने से पूरी तरह से नहीं रोका जा सकता लेकिन अगर विध्वंस का प्रस्ताव है तो यह इसे एक सख्त समीक्षा प्रक्रिया का सामना करना पड़ेगा।

वोट से पहले, एलए सिटी काउंसिल के सदस्य ट्रेसी पार्क ने कहा, “हमने आज कुछ ऐसा किया है जो 60 साल पहले किया जाना चाहिए था। लॉस एंजिल्स शहर में मर्लिन मुनरो और उनके ब्रेंटवुड घर जितना प्रतिष्ठित कोई अन्य स्थान नहीं है।”

–आईएएनएस

पीके/एसकेपी

E-Magazine