ममता सरकार का बड़ा फैसला, रामनवमी पर बंगाल में पहली बार सार्वजनिक अवकाश!

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। अब चुनाव के मद्देनजर ममता भी भगवान राम के शरण में पहुंच गई है। यहाँ पहली बार ममता की सरकार ने रामनवमी के अवसर पर छुट्टी की घोषणा की है। खबर है कि शनिवार यानी 9 मार्च को राज्य सरकार की ओर से जारी एक बयान में यह पूरी जानकारी दी गई। जिसके तहत बंगाल में इस बार के रामनवमी पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है।

बता दें, ममता सरकार के तरफ से जारी अधिसूचना के अनुसार, आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी कार्यालय और उनके सहयोगी संगठन 17 अप्रैल को बंद रहेंगे।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में इससे पहले दूसरे त्योहारों पर तो सार्वजनिक अवकाश होता था, लेकिन रामनवमी पर ऐसा नहीं होता था। मगर इस बार ममता बनर्जी सरकार ने अवकाश की घोषणा की है। सियासी जानकारों की मानें तो अब यूपी के अयोध्या में राम मंदिर बनने के बाद से BJP के अलावा दूसरी राजनीतिक पार्टियों भी चुनाव में जीत के लिए भगवान राम के शरण में पहुंच चुकी है। सभी पार्टियां इस बात को बखूबी समझ चुकीं हैं कि आगामी लोकसभा चुनाव में भगवान राम ही इस बार उनकी नैया पार करवा सकते हैं। खैर अब देखना ये होगा कि ममता सरकार का ये कदम उनको लोकसभा चुनाव के दौरान कितना फायदेमंद साबित होगा।

E-Magazine