2024 की पहली तिमाही में भारत के फिनटेक सेक्टर में 59 प्रतिशत की वृद्धि

नई दिल्ली, 12 अप्रैल (आईएएनएस)। इस साल की पहली तिमाही में फिनटेक क्षेत्र के लिए जुटाई गई फंडिंग के मामले में भारत ने विश्व स्तर पर तीसरा स्थान हासिल किया है। शुक्रवार को एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई।

2023 की चौथी तिमाही की तुलना में 2024 की पहली तिमाही में फिनटेक की फंडिंग में 59 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इससे भारतीय फिनटेक क्षेत्र में मजबूती का संकेत मिलता है।

मार्केट इंटेलिजेंस प्लेटफॉर्म ट्रैक्सन की रिपोर्ट के अनुसार पिछली तिमाही की 346 मिलियन डॉलर की तुलना में इस साल की पहली तिमाही में 551 मिलियन डॉलर की फंडिंग हुई।

भारतीय फिनटेक क्षेत्र में फंडिंग में बेंगलुरु सबसे आगे है, उसके बाद मुंबई और हैदराबाद हैं।

“निवेशकों की निरंतर रुचि ‘स्टार्टअप इंडिया’ पहल के साथ तालमेल बिठाते हुए स्टार्टअप और अनुसंधान एवं विकास को बढ़ावा देने के महत्व पर जोर देती है। ट्रैक्सन की सह-संस्थापक नेहा सिंह ने कहा, यह वृद्धि उद्योग की गतिशीलता और नवीनता को दर्शाता है, जो भारत को एक अग्रणी वैश्विक फिनटेक देश के रूप में स्थापित करता है।

पीक एक्सवी पार्टनर्स, वाई कॉम्बिनेटर और लेट्सवेंचर इस क्षेत्र में अग्रणी निवेशक के रूप में सामने आए हैं।

भारतीय अर्थव्यवस्था में फिनटेक ने पिछली तिमाही में 8.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की थी।

आईएमएफ के अनुसार, भारत 2027 तक 5 ट्रिलियन डॉलर से अधिक की जीडीपी के साथ दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।

–आईएएनएस

सीबीटी/

E-Magazine