इमरान खान ने 9 मई के विरोध प्रदर्शन पर माफी मांगने से किया इनकार

नई दिल्ली, 9 मई (आईएएनएस)। पाकिस्तान के इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के महानिदेशक ने पाकिस्तान-तहरीक-इंसाफ (पीटीआई) के साथ बातचीत से इनकार कर दिया है। उनका कहना है कि जब तक पार्टी नेतृत्व पिछले साल के 9 मई के विरोध प्रदर्शन के लिए सार्वजनिक माफी नहीं मांगता, कोई बातचीत नहीं होगी।

पीटीआई प्रमुख और पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने 9 मई के विरोध प्रदर्शन पर माफी मांगने से इनकार कर दिया है।

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, अडियाला जेल में भ्रष्टाचार मामले में अदालती कार्यवाही के बाद जब पत्रकारों ने इमरान खान से पूछा कि क्या वह 9 मई के विरोध प्रदर्शन के लिए माफी मांगेंगे, तो उन्होंने ना में जवाब दिया।

डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, “उन्होंने कहा कि मैंने पहले ही उन हिंसक विरोध प्रदर्शनों की निंदा की थी। मुझे विरोध प्रदर्शन के बारे में तब पता चला जब मैं पाकिस्तान के तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश के सामने पेश हुआ था। मैं उस समय हिरासत में था और उन विरोध प्रदर्शनों से अनजान था।”

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, इमरान खान ने कहा, ”मैं पाकिस्तान के हित के लिए बातचीत चाहता था न कि व्यक्तिगत लाभ के लिए कोई समझौता करना। मुझे सेना से कोई दिक्कत नहीं है, यहां तक ​​कि मेरे करीबी रिश्तेदार भी सशस्त्र बलों और नौकरशाही में सेवारत हैं।”

9 मई 2023 को पीटीआई प्रमुख को पाकिस्तान में एक अदालत कक्ष से गिरफ्तार किया गया था, जिसके बाद लोगों ने देश भर में विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान देश के कई प्रमुख प्रतिष्ठानों को नुकसान पहुंचा। पाकिस्तानी सेना ने देश में विरोध प्रदर्शन के लिए इमरान खान को दोषी ठहराया है। इमरान खान का कहना है कि यह सेना ही थी जो उनकी पार्टी और उसके नेतृत्व को झूठे मामलों में फंसाने के लिए इन हमलों के पीछे थी।

–आईएएनएस

एफजेड/एसकेपी

E-Magazine