इस कंपनी का चला रहे हैं लैपटॉप तो हो जाएं सतर्क

इस डेटा ब्रीच को लेकर कंपनी जांच कर रही है। कंपनी ने कहा कि जैसे ही हमें इस घटना के बारे में पता चला तो इसकी जांच शुरू कर दी गई। ब्रीच को रोकने के लिए हमने सख्त कदम उठाए हैं। इसे लेकर लॉ इन्फोर्समेंट को भी जानकारी दी गई है। हमने इसकी जांच के लिए एक थर्ड पार्टी फोरेंसिक फर्म को भी नियुक्त किया है।

अगर आप डेल (Dell) कंपनी का लैपटॉप इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको प्राइवेसी और सिक्योरिटी को लेकर थोड़ा सतर्क हो जाने की जरूरत है। क्योंकि हाल ही में डेल टेक्नोलॉजीज ने बताया है कि कंपनी को बड़े पैमाने पर डेटा ब्रीच का सामना करना पड़ा है।

इसमें तमाम यूजर्स की पर्सनल जानकारी लीक हो गई है। इसमें यूजर्स के नाम सहित कई ऐसी जानकारी थी जो कि पूरी तरह से संवेदनशील है। आइए जानते हैं कि ये डेटा ब्रीच क्या है और इससे बचने के सेफ्टी टिप्स क्या हैं।

क्या है डेल डेटा ब्रीच
इस डेटा ब्रीच के बारे में खुद डेल ने बताया है। एक पोस्ट में कंपनी ने कहा कि डेल टेक्नोलॉजीज आपकी प्राइवेसी और कॉन्फिडेंशियल जानकारी को गंभीरता से लेती है। हम इस डेटा ब्रीच के बारे में जांच कर रहे हैं, जिसमें डेल से खरीदारी से संबंधित सीमित प्रकार की ग्राहक जानकारी वाला एक डेटाबेस शामिल है।

हमारा मानना है कि डेटा ब्रीच में शामिल जानकारी के प्रकार को देखते हुए हमारे ग्राहकों के लिए कोई महत्वपूर्ण जोखिम नहीं है। हालांकि फिर भी उन्हें कुछ खास बातों का ख्याल रखना चाहिए।

कंपनी कर रही है जांच
इस डेटा ब्रीच को लेकर कंपनी जांच कर रही है। कंपनी ने कहा कि जैसे ही हमें इस घटना के बारे में पता चला तो इसकी जांच शुरू कर दी गई। ब्रीच को रोकने के लिए हमने सख्त कदम उठाए हैं। इसे लेकर लॉ इन्फोर्समेंट को भी जानकारी दी गई है। हमने इसकी जांच के लिए एक थर्ड पार्टी फोरेंसिक फर्म को भी नियुक्त किया है। हम यूजर्स की सिक्योरिटी का पूरा ख्याल रखते हैं।

यूजर्स को क्या करना चाहिए
मजबूत पासवर्ड- कंपनी ने कहा कि ऐसे डेटा ब्रीच से खुद को सेफ रखने के लिए हमेशा एक मजबूत पासवर्ड का इस्तेमाल करें। पासवर्ड में नंबर, लैटर्स और स्पेशल कैरेक्टर होने चाहिए। इसके अलावा सुनिश्चित करें कि हर जगह एक ही पासवर्ड न हो। हर चीज के एक्सेस के लिए अलग-अलग पासवर्ड रखें।

डेल को करें रिपोर्ट- कंपनी ने ये भी कहा है कि अगर यूजर्स को ऐसा कुछ भी संदिग्ध दिखता है तो वह security@dell.com पर अपनी शिकायत कर सकते हैं।

मैलवेयर की एंट्री- अक्सर यूजर्स गलत जगह से ऐप इंस्टॉल कर लेते हैं। जिसके कारण डिवाइस में मैलवेयर की एंट्री हो जाती है और डेटा लीक होने का खतरा पैदा हो जाता है।

E-Magazine