अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन 2.1 लाख करोड़ रुपये के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा

नई दिल्ली, 1 मई (आईएएनएस)। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा कि इस साल अप्रैल में जीएसटी कलेक्शन 2.10 लाख करोड़ रुपये के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया।

यह साल-दर-साल 12.4 प्रतिशत की महत्वपूर्ण वृद्धि है, जो घरेलू लेनदेन (13.4 प्रतिशत ऊपर) और आयात (8.3 प्रतिशत ऊपर) में मजबूत विकास के चलते हुआ है।

रिफंड के बाद, अप्रैल 2024 के लिए शुद्ध जीएसटी राजस्व 1.92 लाख करोड़ रुपये है, जो पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में 17.1 प्रतिशत की प्रभावशाली वृद्धि है।

वित्त मंत्रालय ने कहा कि सभी क्षेत्रों में अच्छा प्रदर्शन रहा है। कलेक्शन में केंद्रीय वस्तु एवं सेवा कर (सीजीएसटी): 43,846 करोड़ रुपये; राज्य वस्तु एवं सेवा कर (एसजीएसटी): 53,538 करोड़ रुपये; एकीकृत वस्तु एवं सेवा कर (आईजीएसटी): 99,623 करोड़ रुपये, जिसमें आयातित वस्तुओं पर एकत्र किए गए 37,826 करोड़ रुपये शामिल हैं; उपकर: 13,260 करोड़ रुपये, जिसमें आयातित वस्तुओं पर एकत्र 1,008 करोड़ रुपये शामिल हैं।

अप्रैल के लिए अंतर-सरकारी समझौते के हिस्से के रूप में, केंद्र सरकार ने एकत्रित आईजीएसटी से सीजीएसटी को 50,307 करोड़ रुपये और एसजीएसटी को 41,600 करोड़ रुपये दिए। ये सब निपटाने के बाद अप्रैल 2024 के लिए सीजीएसटी के लिए कुल राजस्व 94,153 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 95,138 करोड़ रुपये है।

–आईएएनएस

एसकेपी/

E-Magazine