आम से लेकर खास ने देश के अलग-अलग हिस्सो में किया योग, लोगों से भी करने की अपील

नई दिल्ली, 21 जून (आईएएनएस)। आज पूरी दुनिया में योग दिवस मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इसमें अहम भूमिका है।

प्रधानमंत्री ने खुद आगे आकर लोगों से योग को आत्मसात करने की अपील की। आज इसी का नतीजा है कि पूरे विश्व में लोग योग को स्वीकार कर रहे हैं। इस दौरान आम से लेकर खास लोगों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर योग किया, जिसे उन्होंने तस्वीरों में कैद कर सोशल मीडिया पर भी साझा कर लोगों से भी योग करने की अपील की। कई लोगों ने सामने आकर योग के फायदे भी गिनाए।

नागपुर में विश्व योग दिवस पर नागपुर महानगरपालिका द्वारा यशवंत स्टेडियम में मुख्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें हजारों की संख्या में योग प्रेमी पहुंचे। जनार्दन स्वामी योगाभ्यासी मंडल और नागपुर महानगरपालिका के सहयोग से आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी पहुंचे।

दिल्ली के लाल किला मैदान पर आयुष मंत्रालय और ब्रह्माकुमारी संस्थान द्वारा अंतर्राष्ट्रीय दसवां योग दिवस सेलिब्रेट किया गया। इस अवसर पर हजारों की संख्या में लोग योग करते हुए नजर आए, महिलाओं ने भी अपनी भागीदारी निभाई।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित किए गए कार्यक्रम में शामिल हुए कृष्ण कुमार त्यागी ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “मुझे यह जानकर अत्याधिक प्रसन्नता हो रही है कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों के चलते योग को अंतरराष्ट्रीय फलक पर अद्वितीय पहचान मिल रही है। योग ना महज हमारे स्वास्थ्य के लिए बल्कि हमारे आध्यात्मिक दृष्टि के लिहाज से भी काफी अहम और उपयोगी है।“

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए एक वृद्ध शख्स ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “योग की वजह से आज मैं चलता फिरता शख्स हूं। 65 साल का होने के बावजूद भी आज तक मुझे कोई रोग नहीं है और यह सब कुछ अगर मुमकिन हो पाया है तो योग की वजह से। मैं खासकर युवाओं से अपील करूंगा कि वो योग को अपने जीवन का अभिन्न हिस्सा बनाएं।“

योग कार्यक्रम में शामिल हुई एक महिला ने कहा, “मैं समझती हूं कि समाज के हर वर्ग के लोगों को योग करना चाहिए। यह हमें बहुत तरह की बीमारियों से निजात दिलाता है।“

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए एक अन्य शख्स ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “हमारे लिए कई बार यह यकीन कर पाना मुश्किल होता है कि आखिर यह सब कैसे हो गया? आखिर कैसे हमारे योग को अंतरराष्ट्रीय परिधि पर पहचान मिल पाई? अंतरराष्ट्रीय योग दिवस से वैश्विक स्तर पर भारत को भी एक खास पहचान मिल पाई है और यह सब कुछ हमारे प्रधानमंत्री के प्रयासों के नतीजतन मुमकिन हो पाया है।”

–आईएएनएस

एसएचके/एसकेपी

E-Magazine