फिनटेक कंपनी परफियोस इस साल की देश की दूसरी यूनिकॉर्न बनी

[ad_1]

नई दिल्ली, 13 मार्च (आईएएनएस)। बी2बी सॉफ्टवेयर-एज-ए-सर्विस (एसएएएस) फिनटेक कंपनी परफियोस इस साल यूनिकॉर्न का दर्जा हासिल करने वाली देश की दूसरी कंपनी बन गई है। इसने ओंटारियो की बाद के चरण की उद्यम एवं विकास निवेश शाखा टीचर्स पेंशन प्लान के टीचर्स वेंचर ग्रोथ (टीवीजी) से एक नए फंडिंग राउंड में आठ करोड़ डॉलर जुटाने के बाद यह उपलब्धि हासिल की है।

टेकक्रंच की रिपोर्ट के अनुसार, नए निवेश के साथ परफियोस की वैल्यू अब एक अरब डॉलर से अधिक हो गई है।

कंपनी ने कहा कि वह नई पूंजी का उपयोग अंतर्राष्ट्रीय विस्तार और अकार्बनिक विकास के अवसरों का पता लगाने के लिए करेगी। अगले साल तक इसे सार्वजनिक करने की भी योजना है।

परफियोस के सीईओ सब्यसाची गोस्वामी ने कहा, “हमारे कारोबार में साल-दर-साल लगातार वृद्धि देखी जा रही है। मुनाफे में लगातार सुधार हो रहा है। मैं अपने सभी साझेदारों के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करना चाहता हूं, जिन्होंने हमारी यात्रा के दौरान हम पर भरोसा किया है।”

भाविश अग्रवाल के एआई स्टार्टअप क्रुट्रिम एसआई डिज़ाइन्स ने पिछले महीने एक अरब डॉलर के मूल्यांकन पर पाँच करोड़ डॉलर जुटाए, और इस साल का पहला यूनिकॉर्न बन गया।

पिछले साल, परफियोस ने प्रमुख निजी इक्विटी निवेशक केदारा कैपिटल से अपनी सीरीज डी फंडिंग में 22.9 करोड़ डॉलर जुटाए थे।

वर्ष 2008 में स्थापित, परफियोस 18 देशों में बैंकिंग, वित्तीय सेवाएँ एवं बीमा उद्योग को सेवा प्रदान कर रहा है और एक हजार से अधिक वित्तीय संस्थानों को सशक्त बना रहा है।

तेजी से निर्णय लेने की सुविधा के लिए परफियोस हर साल बैंकों और वित्तीय संस्थानों को 8.2 अरब डेटा पॉइंट वितरित करता है, और 36 अरब डॉलर के एयूएम के साथ प्रति वर्ष 1.7 बिलियन ट्रांजेक्शन करता है।

–आईएएनएस

एकेजे/

[ad_2]

E-Magazine