अफगान सीमा पर लड़कियों के स्कूल पर बमबारी के बाद पाकिस्तान में डर व गुस्सा

इस्लामाबाद, 9 मई (आईएएनएस/डीपीए)। संदिग्ध उग्रवादियों ने उत्तर-पश्चिमी पाकिस्तान में लड़कियों के एक स्कूल को विस्फोट से उड़ा दिया। इससे लड़कियों की सुरक्षा को लेकर आशंकाएं पैदा हो गई हैं। लोगों में डर व आक्रोश भी व्याप्त है।

स्थानीय पुलिस अधिकारी अमजद सुहैल ने बताया कि अफगान सीमा के पास उत्तरी वजीरिस्तान शहर में बुधवार रात बम विस्फोट होने से एक निजी स्कूल आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गया। हालांकि इसमें कोई जनहानि नहीं हुई।

उत्तरी वजीरिस्तान का पहाड़ी शहर लंबे समय से अल-कायदा और उससे संबद्ध अफगान तालिबान के हक्कानी नेटवर्क से जुड़े इस्लामी आतंकवादियों के मुख्यालय के रूप में काम करता रहा है।

पाकिस्तानी तालिबान ने पहले भी लड़कियों के स्कूलों पर बमबारी की है।

2007 और 2009 के बीच नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई के गृहनगर वजीरिस्तान और स्वात में सैकड़ों स्कूलों पर बमबारी की गई।

लड़कियों की शिक्षा पर तालिबान के प्रतिबंधों का खुलेआम विरोध करने पर 2012 में एक तालिबान आतंकवादी ने यूसुफजई के सिर में गोली मार दी थी। उस समय वह 15 साल की थीं।

संसद के पूर्व सदस्य अली वज़ीर ने कहा, उत्तरी वजीरिस्तान की ताज़ा घटना से डर बढ़ गया है।

–आईएएनएस/डीपीए

सीबीटी/

E-Magazine