कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने हाथरस हादसे को लेकर उठाया प्रशासन पर सवाल

नई दिल्ली, 2 जुलाई (आईएएनएस)। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने हाथरस में भोले बाबा के सत्संग में हिस्सा लेने पहुंचे श्रद्धालुओं के साथ हुए भयानक हादसे पर स्थानीय प्रशासन की भूमिका पर सवाल खड़ा किया। श्रद्धालुओं के बीच हुई भगदड़ में 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।

आईएएनएस से बात करते हुए पवन खेड़ा ने कहा, “100 से अधिक श्रद्धालु मारे गए हैं। हम जानना चाहते हैं कि क्या प्रशासन को ये जानकारी नहीं थी कि सत्संग के लिए इतने लोग एकत्र होंगे? उनके लिए उचित व्यवस्था क्यों नहीं की गई और अब खबरें आ रही हैं कि घायलों को उपचार भी नहीं मिल रहा है। पौने दो घंटे से प्रधानमंत्री संसद में लगातार भाषण दे रहे हैं। उनके मुंह से संवेदना का एक शब्द भी सुनने को नहीं मिला। वे उत्तर प्रदेश से सांसद भी हैं। ये बहुत हैरानी की बात है।”

बता दें, सत्संग में हिस्सा लेने आए श्रद्धालुओं ने अस्पताल में उपचार की व्यवस्था पर असंतोष जताया है। अस्पताल में डॉक्टरों की कमी की शिकायत की जा रही है। लोग हादसे के पीछे पुलिस प्रशासन की लापरवाही को भी दोष दे रहे हैं। इस हादसे पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भी संवेदना जताई है।

पवन खेड़ा ने संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राहुल गांधी का नाम लिए बगैर की गई टिप्पणी के लिए भी पीएम पर कटाक्ष किया। उन्होंने प्रधानमंत्री को कुंठाग्रस्त व्यक्ति करार दिया। उन्होंने कहा, “नरेंद्र मोदी को उनकी ही पार्टी के लोग गंभीरता से नहीं लेते हैं। घर जाकर लोग उन पर हंसते हैं। लोगों ने कपिल शर्मा शो देखना बंद कर दिया है। इसके बजाय वे प्रधानमंत्री का भाषण सुनकर हंस लेते हैं। वे इस बार संसद में बैसाखियों के सहारे आए हैं। जिस दिन बैसाखी ने साथ छोड़ा, उस दिन सरकार धड़ाम से गिरेगी। फिर इनको मालूम है कि इनके साथ क्या होने वाला है। जो इन्होंने हमारे साथ किया है, हम इनके साथ उससे डबल करेंगे।”

–आईएएनएस

एएस/सीबीटी

E-Magazine