भाजपा की मंशा संविधान बदलकर आरक्षण छीनने की : कमल नाथ

भोपाल, 8 मई (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव में संविधान और आरक्षण बड़ा मुद्दा बन गया है। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने भाजपा पर संविधान बदलकर आरक्षण छीनने का आरोप लगाया है।

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने बुधवार को एक्स पर लिखा, “भाजपा संविधान बदलना चाहती है ताकि आरक्षण समाप्त कर सके और समाज के वंचित वर्ग के अधिकार छीन सके। कांग्रेस यह नहीं होने देगी। कांग्रेस अपने न्याय पत्र में, हिस्सेदारी न्याय, लेकर आयी है। जिसके तहत सामाजिक और आर्थिक समानता के लिए हर व्यक्ति, हर वर्ग की गिनती होगी।”

कमल नाथ ने आगे कहा, “आरक्षण का हक मिलेगा, संवैधानिक संशोधन द्वारा 50 प्रतिशत सीमा हटाकर एससी, एसटी और ओबीसी को आरक्षण का पूरा हक मिलेगा। इतना ही नहीं एससी, एसटी को सब प्लान की कानूनी गारंटी, जितनी एससी, एसटी की जनसंख्या, उतना बजट, यानी ज़्यादा हिस्सेदारी। जल, जंगल, जमीन का कानूनी हक में वन अधिकार कानून वाले पट्टों का एक साल में फैसला होगा।”

उन्होंने आगे कहा, “अपनी धरती, अपना राज के तहत कांग्रेस उन बस्तियों को अनुसूचित क्षेत्रों में अधिसूचित करेगी, जहां आदिवासी सबसे बड़ा सामाजिक समूह हैं।”

–आईएएनएस

एसएनपी/एकेएस

E-Magazine