अदाणी विल्मर का वित्तवर्ष 2024 के लिए शुद्ध लाभ 67 प्रतिशत बढ़ा

अहमदाबाद, 1 मई (आईएएनएस)। अडाणी विल्मर ने बुधवार को 31 मार्च, 2024 को समाप्त तिमाही के लिए कर के बाद लाभ (पीएटी) में 67 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 157 करोड़ रुपये की वृद्धि दर्ज की, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 94 करोड़ रुपये थी।

कंपनी ने एक बयान में कहा, पूरे साल (वित्तवर्ष 24) के लिए राजस्व 51,262 करोड़ रुपये रहा। खाद्य और एफएमसीजी खंड लगभग 5,000 करोड़ रुपये तक पहुंच गया, जो दो साल में लगभग दोगुना हो गया।

चौथी तिमाही में कंपनी ने 13,238 करोड़ रुपये का राजस्व दर्ज किया।

कंपनी ने कहा कि मात्रा के हिसाब से जहां खाद्य तेलों में 11 फीसदी और खाद्य और एफएमसीजी में 9 फीसदी की बढ़ोतरी हुई, वहीं ऑयल मील के निर्यात कारोबार में गिरावट के कारण चौथी तिमाही में कुल मात्रा में वृद्धि घटकर 3 फीसदी (साल-दर-साल) रह गई।

अदाणी विल्मर लिमिटेड के एमडी और सीईओ अंगशु मल्लिक ने कहा, “खुदरा पैठ बढ़ने के कारण हमने अपने खाद्य तेल और खाद्य कारोबार में मजबूत वृद्धि देखी है। बिक्री और मार्केटिंग में एक केंद्रित दृष्टिकोण और प्रत्येक श्रेणी में क्षेत्रीय दृष्टिकोण से बाजार हिस्सेदारी बढ़ रही है।”

वित्त वर्ष 2024 में खाद्य और एफएमसीजी व्यवसाय की बिक्री 10 लाख मीट्रिक टन (एमटी) तक पहुंच गई और कंपनी ने कुल बिक्री में 60 लाख मीट्रिक टन को पार कर लिया।

मल्लिक ने कहा, “फूड और एफएमसीजी सेगमेंट ने चौथी तिमाही में 1,341 करोड़ रुपये का राजस्व दर्ज किया, जिसमें तिमाही के लिए साल-दर-साल 9 प्रतिशत की अंतर्निहित मात्रा वृद्धि शामिल है।”

कंपनी अपने प्रमुख उत्पादों में अच्छी बाजार हिस्सेदारी हासिल कर रही है।

खाद्य तेलों में अडाणी विल्मर की आरओसीपी (रिफाइंड ऑयल कंज्यूमर पैक) बाजार हिस्सेदारी चलती वार्षिक कुल (एमएटी) आधार पर 60 बीपीएस बढ़कर 19 प्रतिशत हो गई है।

कंपनी ने कहा, “गेहूं के आटे में हमारी बाजार हिस्सेदारी 60 बीपीएस बढ़कर 5.6 फीसदी हो गई।”

खाद्य तेल खंड ने चौथी तिमाही में 10,195 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 24 में 38,788 करोड़ रुपये का राजस्व दर्ज किया।

चौथी तिमाही में वॉल्यूम में साल-दर-साल 11 फीसदी और साल-दर-साल 9 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।

‘इंडस्ट्री एसेंशियल्स’ सेगमेंट ने चौथी तिमाही में 1,702 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 24 में 7,479 करोड़ रुपये का राजस्व दर्ज किया।

मल्लिक ने कहा, “वर्ष के दौरान खाद्य तेलों में ब्रांडेड मिश्रण में सुधार से दूसरी छमाही में कंपनी के लिए बेहतर मुनाफा हुआ है, जिसमें समेकित और स्टैंडअलोन आधार पर क्रमशः 2024 की दूसरी छमाही में 358 करोड़ रुपये और 404 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा दर्ज किया गया।” .

–आईएएनएस

एसजीके/

E-Magazine