कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ रही, शनिवार को प्रदेश में कोरोना के 94 नए मामले मिले

कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ रही है। शनिवार को प्रदेश में कोरोना के 94 नए मामले मिले हैं। वहीं, एक मरीज की मौत हुई है। कोरोना संक्रमित मरीज की मौत दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय में हुई। गत दिवस भी कोरोना से एक मरीज की मौत हुई थी।

संक्रमण बढऩे के साथ ही मरीजों की मौत के मामले सामने आने से चिंता बढ़ गई है। राज्य में वर्तमान में कोरोना के 292 सक्रिय मामले हैं।  स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सबसे अधिक 48 लोग देहरादून में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

अभी तक कोरोना के 797 मामले मिल चुके

इसके अलावा नैनीताल में 29, हरिद्वार में चार, टिहरी व बागेश्वर में तीन-तीन, अल्मोड़ा व पिथौरागढ़ में दो-दो, ऊधमसिंहनगर, उत्तरकाशी व पौड़ी में एक-एक व्यक्ति संक्रमित मिला है। इस साल प्रदेश में अभी तक कोरोना के 797 मामले मिल चुके हैं। इनमें से अधिकांश मरीज ठीक हो चुके हैं।

शनिवार को भी 79 मरीज स्वस्थ्य हुए। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि जो लोग कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं उनमें अधिकांश में सामान्य लक्षण हैं। सामान्य लक्षण वाले मरीज घर पर ही आइसोलेट होकर स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर रहे हैं। बहुत कम मरीज ऐसे हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती होना पड़ रहा है।

ऊधमसिंह नगर में छह माह की बच्ची सहित दो कोविड पाजिटिव मिले

वहीं ऊधमसिंह नगर जिले में एकबार फिर से कोविड के मामले बढ़ने लगे हैं। करीब एक सप्ताह पहले ऊधमसिंह नगर में कोविड के दो मामले सामने आए थे। इनमें एक मरीज बाजपुर व एक काशीपुर में मिला था। इनके स्वस्थ होने के बाद शनिवार को फिर से छह माह की बच्ची सहित दो लोगों संक्रमित मिले हैं। जिन्हें आइसोलेट किया जा रहा है।

ऊधमसिंह नगर जिले में कोविड के मामले बढ़ने से अब स्वास्थ्य महकमे को फिर से इस चुनौती का मुकाबला करने के लिए चाक चौबंद व्यवस्था करनी होगी। इस क्रम में विभाग की ओर से आम जनता से कोविड नियमों का पालन करने की अपील की जा रही है और लोगों को भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचने की सलाह दी जा रही है। पिछले 15 दिनों से देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना के मामले बढ़ने शुरू हुए हैं।

पहले दिल्ली, पंजाब और बंगलुरू और फिर उत्तर प्रदेश में कोरोना के मरीज बढ़ने लगे और अब उत्तराखंड में भी कई मामले जांच में पकड़ में आने लग हैं। शनिवार को ऊधमसिंह नगर जिले में यूपी निवासी एक परिवार की छह माह की बच्ची का स्वास्थ्य बिगड़ने पर उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी कोविड जांच कराई गई तो वह कोरोना पाजिटिव निकल आयी। इस पर आनन-फानन में विभाग ने उसे आब्जर्वेशन में ले लिया।

वहीं दूसरा मामला जसपुर से सामने आया है। वहां एक 17 वर्षीय किशोर में कोविड के लक्षण मिले हैं। विभागीय टीम ने जांच के बाद उसे आइसोलेट कर दिया है। इस बीच विभाग की ओर से बताया जा रहा है कि जिले में कोरोना जांच के लिए रोजाना 200 तक सैंपलिंग हो रही है। फिलहाल वैक्सीनेशन का काम ठप है। पिछले करीब एक माह से वैक्सीनेशन नहीं होने से लोग अस्पतालों के चक्कर भी काट रहे हैं। एसीएमओ डा. तपन शर्मा ने बताया कि वैक्सीन की डिमांड भेजी गई है।

E-Magazine