अतीक अहमद और उसके भाई की गोली मार कर हत्या करने वाला मुख्य आरोपी लवलेश तिवारी ने कुछ इस तरह दिया अपना परिचय

प्रयागराज में हाल ही में माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। दोनों की हत्या करने के बाद तीनों शूटरों ने खुद को पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। इसके बाद से लगातार उनकी पूछताछ की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अतीक के हत्यारों में एक लवलेश तिवारी ने खुद को कट्टरवादी हिंदू बताया है। साथ ही उसने परशुराम का वंशज बताया खुद को डॉन करार दिया है। आपको बता दें कि अतीक अहमद और उसके भाई की गोली मार कर हत्या करने के बाद वहां जय श्रीराम के नारे भी सुनाए दिए थे। शुरुआती पूछताछ के बाद ही पुलिस ने कहा था कि तीनों ने फेमस होने के लिए इस हत्याकांड को अंजाम दिया है।

लवलेश तिवारी गैंगस्टर से राजनेता बने अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ अहमद की सनसनीखेज हत्या का मुख्य आरोपी है। उसके तीन दोस्तों को उत्तर प्रदेश के बांदा में यूपी पुलिस की एसआईटी ने हिरासत में लिया। तीनों को बांदा रेलवे स्टेशन पर पकड़ा गया। पुलिस ने बताया कि आगे की जांच के लिए एसआईटी की टीम हमीरपुर और कासगंज भी पहुंची है।

आपको बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के झांसी में एक मुठभेड़ में अतीक अहमद के बेटे असद के मारे जाने के कुछ दिनों बाद माफिया से नेता बने अशरफ अहमद और उनके भाई अशरफ अहमद को 5 अप्रैल की रात प्रयागराज में मेडिकल परीक्षण के लिए ले जाते समय मार दिया गया। अतीक अहमद 2005 में बसपा विधायक राजू पाल की हत्या के साथ-साथ इस साल फरवरी में बसपा नेता की हत्या के मुख्य गवाह उमेश पाल की हत्या का आरोपी था।

इस हत्याकांड में शामिल तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उनकी पहचान अरुण मौर्य, सनी सिंह और लवलेश तिवारी के रूप में की गई। तीनों हमलावरों के सरेंडर करने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उन्हें पुलिस की हिरासत में रखा गया है और पूछताछ की जा रही है। कोर्ट ने उन्हें 4 दिनों की हिरासत में भेज दिया है।

अतीक गिरोह का ईनामी शूटर असद कालिया गिरफ्तार
प्रयागराज पुलिस ने माफिया अतीक अहमद गिरोह के 50,000 रुपये के इनामी शूटर असद कालिया को बुधवार को गिरफ्तार किया। पुलिस मीडिया सेल द्वारा जारी विज्ञप्ति के मुताबिक, बुधवार को 50,000 रुपये के इनामी बदमाश असद कालिया को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसके अनुसार, कालिया के पास से एक देसी तमंचा और दो कारतूस बरामद हुए हैं। पुलिस के मुताबिक, असद कालिया के खिलाफ करेली थाना में मुकदमा हत्या का प्रयास सहित विभिन्न आरोपों में मामला दर्ज है। पुलिस ने बताया कि वह वांछित था और उस पर 50,000 रुपये का इनाम घोषित था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, असाद कालिया को अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन का दाहिना हाथ माना जाता है और उसकी गिरफ्तारी से पुलिस को शाइस्ता तक पहुंचने में मदद मिलने की उम्मीद है।

E-Magazine