धार्मिक आधार पर आरक्षण का प्रावधान नहीं, फिर भी पिछड़े मुसलमानों को आरक्षण : केसी त्यागी

नई दिल्ली, 24 मई (आईएएनएस)। दिल्ली शराब घोटाले मामले को लेकर सियासत गर्म है। भाजपा और उसके सहयोगी दल दिल्ली की केजरीवाल सरकार और इंडिया गठबंधन पर हमलावर हैं। इसी कड़ी में जेडीयू नेता केसी त्यागी ने बड़ा बयान दिया है।

केसी त्यागी ने कहा कि दिल्ली में शराब घोटाले का मामला हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है। केजरीवाल दिल्ली के चुने हुए मुख्यमंत्री हैं। मामला कोर्ट में है, ऐसे में इस पर कोई राजनीतिक टिप्पणी नहीं करना चाहिए।

स्वाति मालीवाल मामले में केसी त्यागी ने कहा कि पूरा मामला पुलिस के संज्ञान में है। यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है और इसकी जांच जारी है।

सपा सांसद एसटी हसन की ओर से इंडिया गठबंधन की सरकार बनने पर मुसलमानों को आरक्षण दिये जाने के बयान पर केसी त्यागी ने कहा, धार्मिक आधार पर आरक्षण का कोई प्रावधान नहीं है। इसके बावजूद 82 प्रतिशत पिछड़े मुसलमानों को मंडल कमीशन के आधार पर आरक्षण दिया गया।

चुनाव आयोग की ओर से वोटिंग प्रतिशत जारी करने हो रही देरी को लेकर केसी त्यागी ने कहा कि चुनाव आयोग की भूमिका पर सवाल खड़े हो रहे हैं, ऐसे में चुनाव आयोग को सामने आकर अपना स्टैंड क्लियर करना चाहिए।

–आईएएनएस

एकेएस/सीबीटी

E-Magazine