काशी में 22 घंटे तक रहेंगे पीएम मोदी ; नया ट्रेंड सेट करेगा रोड शो…

उत्तर प्रदेश के काशी में कल यानी 13 मई को पीएम मोदी का भव्य रोड शो होगा। इसके अगले दिन यानी 14 मई को पीएम वाराणसी लोकसभा सीट के लिए नामांकन करेंगे। जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र में 22 घंटे तक रहेंगे। उनके आगमन और कार्यक्रमों को लेकर पूरी तैयारियां की जा रही है। गृहमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल कार्यकर्ताओं के साथ पीएम मोदी के रोड शो और नामांकन को लेकर बैठक की और इसे ऐतिहासिक बनाने की रणनीति बनाई है।

नया ट्रेंड सेट करेगा PM मोदी का रोड शो
13 मई को मालवीय प्रतिमा से लेकर श्री काशी विश्वनाथ धाम तक पीएम मोदी का भव्य रोड शो होगा। पीएम मोदी का होने वाला रोड शो ऐतिहासिक होने के साथ ही एक नया ट्रेंड सेट करेगा। प्रधानमंत्री के रोड शो के लिए मालवीय प्रतिमा से लेकर काशी विश्वनाथ धाम तक 11 बीट बनाए गए। इन 11 बीट के अंतर्गत 10-10 प्वाइंट यानी लगभग 100 प्वाइंट बनाए गए हैं। यहां पर मराठी, गुजराती, बंगाली, माहेश्वरी, मारवाड़ी, तमिल, पंजाबी आदि समाज के लोग अपनी परंपरागत वेशभूषा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करेंगे। इन प्वाइंट पर फूलों की बरसात की जाएगी। ढोल-नगाड़े बजाए जाएंगे। शहनाई, शंखनाद, डमरू दल के साथ काशी की जनता प्रधानमंत्री का स्वागत करेगी। इसके साथ ही जगह जगह सांस्कृतिक कार्यक्रम, लोक नृत्य, लोकगीत गाते हुए बनारस के कलाकार व वैदिक मंत्रोच्चार करते हुए बटुक पीएम मोदी का स्वागत करेंगे। वहीं, पीएम मोदी का स्वागत करने के लिए मुस्लिम समाज के लोग भी आगे आ रहे हैं।

रोड शो को ऐतिहासिक बनाने के लिए रणनीति तैयार  
पीएम मोदी के रोड शो से पहले गृहमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोनों शनिवार शाम को वाराणसी पहुंचे। दोनों नेता दशाश्वमेध में होने वाली मां गंगा आरती में शामिल हुए और भारतीय जनता पार्टी की ऐतिहासिक जीत के लिए आशीर्वाद लिया। इसके बाद उन्होंने घाट पर आयोजित काशी की विकास यात्रा पर आधारित ड्रोन शो को भी देखा। ड्रोन शो के दौरान काशी में पीएम मोदी के प्रयास से 10 साल के दौरान हुए विकास कार्यों को दर्शाया गया। इस प्रस्तुति में ड्रोन से आसमान में करीब 400 फीट की ऊंचाई पर लगभग 300 मीटर की चौड़ाई में लेजर शो का प्रदर्शन हुआ। वहीं, उन्होंने पीएम के रोड शो और नामांकन कार्यक्रम को लेकर तैयारियों की समीक्षा की और कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रणनीति तैयार की।

E-Magazine