सरकार में आए तो पश्चिमी उत्तर प्रदेश को अलग राज्‍य बनाएंगे : मायावती

मुजफ्फरनगर, 14 अप्रैल (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव को लेकर रविवार को मुजफ्फरनगर में स्थित जीआईसी मैदान में जनसभा करने पहुंची पूर्वमुख्यमंत्री व बसपा सुप्रीमो मायावती ने सपा, भाजपा, कांग्रेस पर जमकर हमला बोला।

मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से बसपा प्रत्याशी दारा सिंह प्रजापति के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा कि बसपा ने किसी भी राजनीतिक दल से गठबंधन नहीं किया है। बसपा अकेले चुनावी मैदान में है और बड़ी जीत हासिल करेगी। उन्होंने जनता से बसपा प्रत्याशी के समर्थन में वोट करने की अपील की।

उन्होंने ने कहा कि भाजपा के तीसरी बार सत्ता में आने की संभावना बहुत कम है। बसपा सुप्रीमो ने कहा, ”पश्चिमी उप्र के लोग लंबे समय से अलग राज्य की मांग करते आ रहे हैं। अगर केंद्र में हमारी सरकार आती है तो पश्चिमी उप्र को एक अलग राज्य बनाने के लिए ठोस कदम उठाए जाएंगे।”

उन्होंने कहा, ”अगर स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव होते हैं और वोटिंग मशीनों के साथ छेड़छाड़ नहीं की जाती है तो भाजपा सत्ता में नहीं लौटेगी।”

मायावती ने कहा, ”भाजपा ने जो वादे किए हैं, उनमें से एक चौथाई भी पूरे नहीं किए हैं। सिर्फ सबसे ज्यादा समय पूंजीपतियों, कारोबारियों को और पूंजीपति बनाने और उन्हें हर स्तर पर बचाने में बीता है। भाजपा और दूसरी पार्टियां इन्हीं कारोबारियों के सहारे अपना संगठन चलाती हैं और चुनाव लड़ती हैं, जिसका खुलासा चुनावी बॉन्ड के आंकड़ों से हुआ है।”

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि दलित, आदिवासी व अन्य वर्गो के लोगों को सरकारी नौकरी नहीं मिली। विपक्षी दलों की सरकार ने धन्ना सेठों को ध्यान में रखा गया है। गलत कृषि नीतियों के कारण किसान सड़कों पर आंदोलन कर रहा है। देश में मंहगाई, भ्रष्टाचार बढ़ा है। हमें कांग्रेस भाजपा व अन्य सहयोगी दलों को रोकना है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने पिछड़े समुदाय के लोगों के लिए आरक्षित खाली सीटों पर लोगों की भर्ती नहीं करने और पदोन्नति में आरक्षण को निरर्थक बनाने के लिए विपक्षी दलों पर हमला बोला। मायावती ने कहा, ”पिछले कुछ वर्षों में केंद्र और ज्यादातर राज्यों में भाजपा सरकार होने से मुसलमानों की प्रगति काफी हद तक रुक गई है। यहां धर्म के नाम पर हिंसा भी बढ़ी है।”

उन्होंने यह भी दावा किया कि भाजपा शासन में सामान्य वर्ग को भी कोई लाभ नहीं मिला है। उन्होंने अपने समर्थकों से कहा कि वह भाजपा के पक्ष में मीडिया द्वारा किए जा रहे प्रचार और अन्य राजनीतिक दलों द्वारा जारी किए गए झूठे वादों वाले घोषणापत्रों के प्रलोभन में न आएं।

मायावती ने भाजपा द्वारा रविवार को जारी किए गए घोषणापत्र को लेकर निशाना साधते हुए कहा कि गरीबों को मुफ्त राशन मुहैया कराने से विकास नहीं होगा। सच्चा विकास तभी हो सकता है, जब लोगों को रोजगार दिया जाए।

मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से बसपा के प्रजापति का मुकाबला भाजपा के संजीव कुमार बालियान और सपा के हरेंद्र सिंह मलिक से है।

–आईएएनएस

विमल कुमार/एसजीके

E-Magazine