किर्गिज़स्तान के प्रधानमंत्री ने कहा, चीन के साथ रणनीतिक साझेदारी

बीजिंग, 22 जून (आईएएनएस)। चीन और किर्गिज़स्तान पड़ोसी देश हैं। हाल में चाइना मीडिया ग्रुप (सीएमजी) ने किर्गिज़स्तान की राजधानी बिश्केक में किर्गिज़स्तान के प्रधानमंत्री अकिलबेक झापारोव का इंटरव्यू लिया।

इस मौके पर प्रधानमंत्री झापारोव ने कहा कि चीन और किर्गिज़स्तान के बीच संबंध नये युग में व्यापक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ चुके हैं। इससे दोनों देशों के लोगों के बीच समझ और बढ़ेगी। किर्गिज़स्तान और चीन के बीच सीमा रेखा की लंबाई हजार किमी से अधिक है। हमारे बीच दो भूमि सीमा बंदरगाह हैं। चीन के आंकड़ों के अनुसार पिछले साल इन दो सीमा बंदरगाहों के माध्यम से द्विपक्षीय व्यापार की मात्रा 19 अरब डॉलर से अधिक तक पहुंची। इस साल हमारे बीच तीसरा सीमा बंदरगाह खुलेगा।

प्रधानमंत्री झापारोव ने आगे कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग, किर्गिज़स्तान के राष्ट्रपति नूरगोझोविच झापारोव और उज़्बेकिस्तान के राष्ट्रपति मिरोमोनोविच मिर्जियोयेव की उपस्थिति में चीन-किर्गिज़स्तान-उज़्बेकिस्तान रेलवे परियोजना पर तीन देशों के बीच अंतर-सरकारी समझौता संपन्न किया गया। इससे पूरे मध्य एशिया चीन और यूरोपीय संघ के बीच भूमि चौनव बनेगा। किर्गिज़स्तान को इससे फायदा मिलेगा।

प्रधानमंत्री झापारोव ने यह भी कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने बेल्ट एंड रोड का समान निर्माण करने की पहल पेश की। उन्होंने कहा कि वर्तमान दुनिया में कोई भी देश अकेला नहीं रह सकता। शी चिनफिंग द्वारा प्रस्तुत मानव जाति साझा भविष्य वाले समुदाय की विचारधारा का हम गहन रूप से अध्ययन करेंगे। चीन में विकास का मॉडल किर्गिज़स्तान के लिए उपयुक्त है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

–आईएएनएस

एसकेपी/

E-Magazine